Strategic dialogue between India and Japan, discussion on expansion of alliance in third countries

नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने जापानी समकक्ष के तोशीमित्सू मोतेगी के साथ बुधवार को मुलाकात की और दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा के साथ ही तीसरे देशों में भारत-जापान के बीच गठबंधन के विस्तार पर बातचीत की। दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने संयुक्त राष्ट्र में सुधार और हिंद प्रशांत क्षेत्र में सहयोग को प्रगाढ़ करने के तरीकों पर भी चर्चा की। विदेश मंत्री ने ट्वीट किया कि दोनों नेताओं ने विनिर्माण, कौशल विकास, बुनियादी ढांचे, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा की।

उन्होंने कहा कि भारत और जापान के बीच ‘विशेष साझेदारी’ कोविड से उबरने के बाद भारी परिवर्तन ला सकती है। यह सुरक्षा वार्ता ‘क्वाड’ के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक के एक दिन बाद हुई है। ‘क्वाड’ चार देशों का समूह है जिसमें अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान शामिल हैं। जयशंकर ने कहा, ‘‘हमने तीसरे देश में अपने गठबंधन को और बढ़ाने के तरीके तलाशे, जिसमें पूरा ध्यान विकासात्मक परियोजनाओं पर रहा। वैश्विक स्थिति की समीक्षा की और संयुक्त राष्ट्र में सुधार से जुड़ी प्रगति पर चर्चा की। हमारी साझा प्रतिबद्धता हिंद प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता, सुरक्षा और समृद्धि में मदद कर सकती है।”

गौरतलब है कि पिछले महीने जयशंकर ने कहा था कि भारत और जापान दोनों देश श्रीलंका, बांग्लादेश और म्यांमार जैसे तीसरे देशों में साथ काम करने पर विचार कर रहे हैं जो रणनीतिक हितों पर उनके बढ़ते मेल को दर्शाते हैं। दोनों देशों के बीच रक्षा और सुरक्षा, विनिर्माण और सूचना और संचार प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में सहयोग तेजी से बढ़ रहा हैं।(एजेंसी)