योगी और मोदी के कार्यकाल में ही पूरा होगा मंदिर निर्माण:  नृत्य गोपालदास

नई दिल्ली:श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपालदास ने गुरुवार को कहा कि, शिग्रही मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा." उन्होंने कहा, " मंदिर निर्माण का पूरा कार्य

नई दिल्ली: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपालदास ने गुरुवार को कहा कि, शिग्रही मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा." उन्होंने कहा, " मंदिर निर्माण का पूरा कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी के कार्यकाल में ही समाप्त हो जाएगा." ट्रस्ट के सभी सदस्य आज शाम 5.30 बजे प्रधानमंत्री मोदी से मिलने वाले हैं. 

बता दें कि  ट्रस्ट की पहली बैठक का आयोजन नई दिल्ली के ग्रेटर कैलाश स्तिथ कार्यालय में हुई. इस बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया. राम मंदिर निर्माण आंदोलन के प्रमुख चेहरा रहे नृत्य गोपालदास को ट्रस्ट का प्रमुख बनाया गया. वहीँ विहिप के नेता चंपत राय को महासचिव नियुक्त किया गया है. प्रधानमंत्री मोदी के पूर्व प्रमुख सचिव नृपेन्द्र मिश्रा को भवन मिर्माण समिति का प्रमुख बनाया गया हैं. 

विहिप का ही मॉडल होगा 
मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिन्दू परिषद द्वारा प्रस्तावित मॉडल को लेकर किए गए सवाल पर नृत्य गोपालदास ने कहा, " विहिप द्वारा प्रस्तावित मॉडल पर ही मंदिर का निर्माण होगा. लेकिन उसे और ऊँचा बनाने के लिए उसमे थोड़ा-सा  बदलाव होगा. " उन्होंने कहा "  नृपेन्द्र मिश्रा जी को भवन निर्माण समिति का प्रमुख बनाया गया हैं. इसलिए सारे निर्णय वहीँ लेगें. " समिति की अगली बैठक को लेकर उन्होंने कहा कि अगले दो तीन दिनों में इसकी घोषणा कि जाएगी. "

औरों के तुलना में मंदिर भव्य होना चाहिए
प्रस्तावित राममंदिर और परिसर के निर्माण पर स्वामी जीतेंद्रानंद सरस्वती ने कहा, " सनातन धर्म सबसे प्राचीन धर्म हैं. भगवन राम किसके महानतम प्रतिक है." उन्होंने कहा, " अन्य धर्मो के प्रतिक के तुलना में राममंदिर और परिसर बड़ा होना हीं चाहीए. इसके लिए ट्रस्ट को और अधिक भूमि अधिग्रहित करना चाहिए."

मंदिर निर्माण तक अन्य स्थान पर विराजित होंगे रामलला
मंदिर निर्माण को लेकर जल्द ही भवन निर्माण समिति भूमि का निरिक्षण करने वाली है. मंदिर निर्माण के वक़्त रामलला को मौजूदा जगह से अस्थाई तौर पर किसी और जगह विराजित किया जाएगा. इसके लिए अस्थाई मंदिर का निर्माण किया जाएगा जहाँ भक्त रामलला के दर्शन कर सकते हैं.