Sending ED to Patel's house amid Corona epidemic reflects government's priorities: Priyanka Gandhi

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने आखिर कल शुक्रवार रात 11.40 बजे राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ ही दिया। विदित हो कि पीड़िता 95 फीसदी जली हुई हालत में गुरुवार रात दिल्ली लाई गई

नयी दिल्ली, उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने आखिर कल शुक्रवार  रात 11.40 बजे राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ ही दिया।पीड़ित को पांच आरोपियों ने आग लगाई। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें शिवम त्रिवेदी, उसके पिता रामकिशोर, शुभम त्रिवेदी, हरिशंकर और उमेश बाजपेयी शामिल हैं।पीड़िता 95 फीसदी जली हुई हालत में गुरुवार रात दिल्ली लाई गई थी। उसकी  हालत बहुत नाजुक थी इसलिए उसे वेंटिलेपर पर रखकर बचाने की हर संभव कोशिश की गई। लेकिन देर रात पीड़िता ने दम तोड़ ही दिया। वहीं  प्रियंका गाँधी पीड़िता के परिवार से मिलने उन्नाव पहुंची और उन्होंने यहाँ तक कह दिया कि आरोपियों का सम्बन्ध बीजेपी से है ।  पुलिस की सघन जांच जारी है।  

  • 03.25 P.M – यूपी की गवर्नर आनंदीबेन पटेल से करीब 45 मिनट की मुलाकात के बाद वापस निकलीं मायावती.राज्यपाल से मिलने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आए दिन हर प्रकार के अपराधों के साथ-साथ खासकर महिला उत्पीड़न बलात्कार व हत्या आदि की दिल को दहलाने वाली घटनाएं घटित होने के कारण लोगों में काफी चिंता है वह आशंकाएं व्याप्त है, जिस कारण सामान्य जनजीवन प्रभावित है. न्याय की तलाश में प्रयासरत पीड़ित महिलाओं की हत्या करने व उन्हें जिंदा जलाने जैसी दर्दनाक घटनाओं ने सभी को झकझोर के रख दिया है.
  • 03.15 P.M –उन्नाव गैंगरेप केस को लेकर हो रहे चौतरफा राजनीतिक हमलों से यूपी सरकार घिरी हुई है. लेकिन इसी बीच उन्नाव मामले के आरोपी का वो बेल ऑर्डर सामने आया है जिसमें उसे रेप मामलों में जमानत मिली थी. इस बेल ऑर्डर के माध्यम से यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि सरकार ने इस मामले के आरोपी की बेल का विरोध किया था.
  • 03.05 P.M – उन्नाव रेप कांड को लेकर प्रियंका ने एक बार फिर उठाए योगी सरकार पर सवाल.
  • 02.45 P.M – सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुनील गुप्ता ने कहा कि ऑटोप्सी रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत ज्यादा जल जाने की वजह से हुई. पोस्टमॉर्टम के दौरान जहर, घुटन का कोई संकेत नहीं मिला.
  • 02.30 P.M – केजरीवाल – हर भारतीय को शर्मिंदा करती है यह मौत.
  • 02.20 P.M –पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने कहा, परिजनों ने उन्हें बताया कि आरोपियों ने घर में घुसकर रेप पीड़िता के पिता से मारपीट भी की. कांग्रेस महासचिव ने कहा, बीते एक साल से पीड़िता और उसके परिवार को परेशान किया जा रहा था. मैंने यह भी सुना है कि दोषियों का बीजेपी से संबंध है. राज्य में अपराधियों में कोई डर नहीं है.
  • 01.50 P.M – उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है, ‘’उन्नाव की मासूम बेटी की दुखद और हृदय विदारक मौत, मानवता को शर्मसार करने वाली घटना से आक्रोशित और स्तब्ध हूं. एक और बेटी ने न्याय और सुरक्षा के आस में दम तोड़ दिया. दुःख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति मै आपनी संवेदना व्यक्त करता हूं.’’

 

  • 01.12 P.M – सफदरजंग अस्पताल के सामने प्रदर्शन, महिला ने अपनी 6 साल की बेटी पर छिड़का पेट्रोल.
  • 12.55 P.M – बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले कुछ सालों में खास कर बीजेपी सरकार के दौरान महिलाएं सुरक्षित नहीं महसूस कर रहीं. यूपी में ऐसा कोई भी दिन नहीं जाता जब महिलाओं के खिलाफ अपराध का कोई केस न हो. जब तक राज्य सरकार समय तय कर एक्शन लेना नहीं शुरू करेगी, ऐसी घटनाएं थमने वाली नहीं हैं.

 

  •  12.42 P.M – प्रियंका गांधी कर रही हैं परिजनों से मुलाकात. प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी और प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह भी नजर आ रहे हैं. प्रियंका गांधी परिवार से मिलने उनके घर के अंदर गई हैं.
  • 12.21 P.M – समाजवादी पार्टी के बाद कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता  विधानसभा और बीजेपी कार्यालय के सामने धरने पर बैठे. इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प हुई. झड़प के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया.
  • 12.01 P.M – पोस्टमॉर्टम पूरा हो जाने के बाद सफदरजंग अस्पताल से उन्नाव गैंगरेप पीड़िता का शव लेकर एंबुलेंस रवाना हो चुकी है. पीड़िता का शव उन्नाव लाया जा रहा है.
  • 11.44 A.M – सफदरजंग अस्पताल में चल रहा उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के शव का पोस्टमॉर्टम पूरा हो चुका है.
  • 11.34 A.M – यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उन्नाव रेप मामले को लेकर विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए हैं.अखिलेश के साथ समाजवादी पार्टी के केई बड़े नेता भी धरने पर बैठे हैं.

  • 11.19 A.M – स्वाति मालीवाल: सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील. 
  • 11.17 A.M –  मायावती ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता को शीघ्र न्याय दिए जाने की मांग की.
  • 11.09 A.M –  कांग्रेस की रणजीत रंजन ने देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर कहा कि जेलों में बंद सभी बलात्कारियों को सड़कों पर लाया जाना चाहिए।यह लोगों को संदेश देगा कि अगर इस तरह की बात दोहराई जाती है, तो उनका हश्र क्या होगा.
  • 11.07 A.M – कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पीड़िता के परिजनों से मिलने उन्नाव जाएंगी. गौरतलब है कि प्रियंका दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ में हैं.
  • 10.58 A.M –उन्नाव रेप पीड़िता के बारे में आजतक से बातचीत के दौरान वृंदा करात ने कहा कि इस लड़की की हत्या दो बार की गई. पहली बार उन हैवानों द्वारा दूसरी बार सत्ता और पुलिस द्वारा, उसकी सुरक्षा जिनकी जिम्मेदारी थी. जब तक इस देश में पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति नहीं होगी, तब तक कुछ भी नहीं बदलने वाला है.
  • 10.53 A.M – पीड़िता की भाभी ने कहा है कि उन्हें इंसाफ चाहिए. सभी आरोपियों को मौत की सज़ा दी जानी चाहिए. पीड़िता की भाभी ने दावा किया है कि घटना के बाद से लगातार परिवार को आरोपी धमकी दे रहे थे. उन्होंने कहा कि पहले गांव छोड़कर जाने का दबाव बनाया गया और फिर पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया. किसी तरह मामला दर्ज हुआ तो लड़की ख़ुद इंसाफ के लिए लड़ती रही. उन्होंने कहा कि जेल से बाहर आने के बाद आरोपी ने लड़की और उसके पिता को जलाकर मारने की धमकी दी थी.
  • 10.50 A.M – पीड़िता के शव के पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई जा रही है. पार्थिव शरीर को सड़क के रास्ते ले जाया जाएगा, क्योंकि परिवार ने सड़क के रास्ते जाने को ही कहा है. 
  • 10.45 A.M – केशव प्रसाद मौर्य: दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले. 
  • 10.42 A.M – उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत पर दुख व्यक्त किया है. सीएम योगी ने कहा है कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और इस मामले को फास्ट-ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा.
  • 10.35 A.M – उन्नाव पीड़िता की मौत के बाद मीडिया के सामने आए उसके भाई ने कहा है कि मैं अपनी बहन को बचा नहीं पाया. मैं सरकार और पुलिस से मांग करता हूं कि मेरी बहन इस दुनिया में नहीं है, इसलिए अब आरोपियों को भी मौत मिलनी चाहिए. बहन को हमने वादा किया था की उसे बचा लेंगे पर नहीं बचा पाय. हम आरोपियों को भी सजा दिलवाकर रहेंगे. हम अपनी बहन के शव को न गंगा में बहायेंगे न ही आग के हवाले करेंगे. हम उसे धरती मैया की गोद मे देंगें.
  • 10.30 A.M – सफदरजंग अस्पताल में उन्नाव रेप पीड़िता के शव का पोस्टमॉर्टम जारी.
  • 10.25 A.M –  उमा भारती: ऐसी कार्यवाही हो कि लोग भय से कांप उठें.
  • 10.15 A.M – उन्नाव में 11 महीने में 86 बलात्कार पर बोले बृजेश पाठक- मामलों का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए.
  • 10.05 A.M – प्रियंका गांधी: उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था.

  •  09.59 A.M – कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भी जताया दुख.
  • 09.56 A.M – सफदरजंग के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने कहा कि यूपी और दिल्ली पुलिस अपना पेपर वर्क पूरा कर रही है. वे लोग फॉरेंसिक प्रक्रिया का हिस्सा नहीं होंगे.
  • 09.46 A.M – यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्नाव की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है, अत्यंत दुखद है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वह परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं. सभी आरोपी पकड़े जा चुके हैं. सरकार उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलवाएगी.
  • 09.36 A.M – सफदरजंग अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक सुबह 10 बजे उन्नाव रेप विक्टिम के शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा. फोरेंसिक विभाग के प्रमुख डॉ. वाही पोस्टमॉर्टम का सुपरविजन करेंगे. पोस्टमॉर्टम में करीब एक से डेढ़ घंटे लग सकते हैं.
 

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने आखिर कल शुक्रवार रात 11.40 बजे राजधानी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ ही दिया। विदित हो कि पीड़िता 95 फीसदी जली हुई हालत में गुरुवार रात दिल्ली लाई गई थी। उसकी हालत बहुत नाजुक थी इसलिए उसे वेंटिलेपर पर रखकर बचाने की हर संभव कोशिश की गई। लेकिन देर रात पीड़िता ने दम तोड़ ही दिया। पीड़िता की हालत 8.30 PM के बाद बेहद खराब होने लगी थी। डॉक्टरों ने दवाई का डोज भी बदला लेकिन पीड़िता को 11.40 पर कार्डिएक अरेस्ट होने से पीड़िता की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें – उन्नाव पीड़िता के परिजनों ने हैदराबाद मामले में मुठभेड़ की तर्ज पर न्याय की मांग की

आपको बता दें कि गुरुवार सुबह ही उन्नाव में 5 आरोपियों ने उस पर पेट्रोल डालकर जला दिया था। आरोपियों में से एक पीड़िता के साथ हुए गैंगरेप का मुख्य आरोपी है। पीड़िता को गुरुवार को इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल में दाखिल कराया गया था। वहीं सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक विभाग के प्रमुख डॉक्टर शलभ कुमार ने बताया है कि पीड़िता को रात 11 बजकर 10 मिनट पर दिल का दौरा पड़ा। उन्हें बचाने की बहुत कोशिश की गयी लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। 
 
डॉ. शलभ ने यह भी बताया कि फिलहाल पीड़िता के शव को मोर्चरी में भेजा गया है। साथ अस्पताल में मौजूद पीड़िता की मां, बहन और भाई को इसके बारे में इतल्ला दी गयी है। खबर ये भी आ रही है कि पीड़िता ने मरने से पहले अपने भाई से कहा था कि वह जीना चाहती है औऱ दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाना चाहती है। परन्तु उनकी यह ख्वाहिश भी आखिर अधूरी रह गई , और देश की एक और बेटी बलात्कार की घिनौनी दरिंदगी की बलिवेदी पर चढ़ गयी। 

 
पीड़िता की मौत के बाद उनकी बहन ने कहा है कि उनका परिवार इस घटना से नहीं डरेगा और आगे की लड़ाई जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि, "जिन लोगों ने मेरी बहन के साथ बलात्कार किया, मैं चाहती हूं कि उन्हें मौत की सज़ा मिले. हम उनके ख़िलाफ़ कोर्ट में अपनी लड़ाई जारी रखेंगे ताकि हमें न्याय मिल सके." पीड़िता के परिजन ने यह भी दावा किया है कि, अभियुक्त जेल से छूट कर आने के बाद उन्हें लगातार धमकी दे रहे थे और इससे पहले भी कई बार हमले की कोशिश की गयी थी। वहीं लड़की के पिता ने बताया कि कम से एक दर्जन बार उन लोगों ने केस वापस लेने की धमकी दी थी और घर पर हमले की भी कोशिश की थी। 
 
उधर उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक गुरुवार को पीड़िता को ज़िंदा जलाने की कोशिश की गई थी। पुलिस के मुताबिक पीड़िता जिस वक़्त रेप मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट जा रही थीं तभी स्टेशन के रास्ते में अभियुक्तों ने उन्हें घेर लिया और आग लगा दी गयी। इस मामले में पांच लोगों को अभियुक्त बनाया गया है। इसके पहले पुलिस ने गुरुवार को ही चार लोगों को गिरफ़्तार करने की जानकारी दी थी और पांचवें अभियुक्त को शुक्रवार को ही गिरफ़्तार किया गया था। पुलिस ने ये भी कहा है की यह पांचवा आरोपी जेल भी गया था और कुछ दिन पहले ही ज़मानत पर छूट कर वापस आया था।पुलिस का ये भी कहना है कि पीड़िता के परिवार ने किसी तरह की धमकी की सूचना नहीं दी थी। अभी मामले की सघनता से जांच जारी है। 

 
 
आपको बता दें की कल ही शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव बलात्कार मामले की जांच SIT को सौंपी थी। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह भी एलान किया था कि पीड़िता के इलाज का सारा ख़र्च सरकार द्वारा वहां किया जायेगा। अब देखना यह है कि हमारी पुलिस, अदालत और सरकार क्या फिर ऐसे इंसानियत को शर्मसार करने वाले हैवानों को जाने देगी या फिर उन्नाव की इस बेटी को उसके मृत्यु के बाद ही सहीं, पर इन्साफ जरूर देगी।