इस राज्य में ”Valentine”s Day” पर मनाया जाएगा ”मातृ-पितृ पूजन दिवस”

सूरत. 14 फरवरी 'वैलेंटाइन डे' यानि प्यार का दिन. इस दिन प्यार करने वाले प्रेमी अपने प्यार का इजहार करते है. यह दिन पूरी दुनिया में मनाया जाता है और सभी प्रेमियों को समर्पित खुशियों का दिन माना जाता

सूरत. 14 फरवरी ‘वैलेंटाइन डे’ यानि प्यार का दिन. इस दिन प्यार करने वाले प्रेमी अपने प्यार का इजहार करते है. यह दिन पूरी दुनिया में मनाया जाता है और सभी प्रेमियों को समर्पित खुशियों का दिन माना जाता है. हालांकि इस साल भारत के एक राज्य में वैलेंटाइन्स डे (Valentine’s Day) नहीं मनाया जायेगा. इसकी जगह 14 फरवरी 2020 को यहां ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस’ मनाया जायेगा। इसके लिए सरकारी विभाग द्वारा आदेश जारी किया है. यह आदेश गुजरात के सूरत जिले के शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी किया गया है.

पीटीआई के मुताबिक, आदेश में लिखा है कि ‘स्कूली बच्चों में भारतीय संस्कृति व मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए 14 फरवरी को मातृ-पितृ पूजन दिवास का आयोजन किया जाए.’ ये सर्कुलर सभी सरकारी स्कूलों के लिए जारी किया गया है. इसमें ये भी बताया गया है कि पूजन दिवस को किस तरह मनाया जाए.

ऐसे मनाये मातृ-पितृ पूजन दिवस

– सभी स्कूलों को पांच से दस दंपत्ति को आमंत्रित किया जाएगा. फिर स्कूल कैंपस में ही वहां पढ़ने वाले उनके बेटे या बेटियों द्वारा फूल, माला, मिठाई और प्रार्थना पढ़कर उनकी पूजा की जाएगी.

– इस अवसर पर स्कूलों को विशिष्ट अतिथियों जैसे – नेता / मंत्री / स्कूल प्रबंधन समिति के सदस्य या सामाजिक कार्यकर्ताओं को बुलाकर इस दिन पर भाषण दिलवाने के लिए भी कहा गया है.

– साथ ही स्कूलों को अपने कार्यक्रम की पूरी रिपोर्ट आयोजन की तस्वीरों के साथ जिला शिक्षा कार्यालय में जमा भी करनी होगी.

शिक्षा अधिकारी के इस फैसले का कांग्रेस ने विरोध किया है. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि, ‘हम सभी को अपनी संस्कृति और अपने जीवन में माता-पिता की अहमियत पता है. ऐसी गतिविधियों की जगह राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता व स्तर बेहतर करने पर ध्यान देना चाहिए. राज्य शिक्षा विभाग दिशाहीन है, इसलिए इस तरह का ड्रामा हो रहा है.’