विवादित बयान के चलते, पठान पर दंगे भड़काने का मामला दर्ज

कर्नाटक, AIMIM नेता और पूर्व विधायक वारिस पठान अपने विवादित बयान को लेकर फिर घिरते नजर आ रहे हैं। ख़बरों के मुताबिक उनके खिलाफ कर्नाटक के कलबुर्गी पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज कर ली है है। आपको बता दें कि

कर्नाटक, AIMIM नेता और पूर्व विधायक वारिस पठान अपने विवादित बयान को लेकर फिर घिरते नजर आ रहे हैं। ख़बरों के मुताबिक उनके खिलाफ कर्नाटक के कलबुर्गी पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज कर ली है है। आपको बता दें कि पठान ने कलबुर्गी में यह विवादित बयान दिया था कि ध्यान रखे "हम मुसलमान 15 करोड़ है, लेकिन 100 करोड़ पर भी भारी है।" 

हालांकि फिर अपने बयान से उन्होंने पलटते हुए यह भी कहा कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा है और मीडिया ने उनके बयान का दुरूपयोग किया है। यह भी खबर आ रही है कि इस प्रकार के बयान से AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी उनसे नाराज चल रहे हैं। अब कर्नाटक पुलिस ने वारिस पठान के खिलाफ खिलाफ भारतीय दंड सहिंता(IPC) की धारा 117, 153(दंगा के लिए आम जन को भड़काना) और धारा 153ए(दो समूहों में ग़लतफ़हमी और नफरत फैलाना) के तहत केस भी दर्ज किया है। 

उधर पठान के विवादित बयान से असदुद्दीन ओवैसी भी रुष्ट हैं और उन्होंने अपने और पार्टी के अगले आदेश तक वारिस पठान के सार्वजनिक रूप से बयान देने पर भी रोक लगा दी है। विदित हो कि पठान AIMIM के आला प्रवक्ता हैं। वे हिन्दी पट्टी में AIMIM का जाना-माना चेहरा भी हैं। लेकिन अपने कदावर नेताओं के इस प्रकार के ओछे बयान से ओवैसी गुस्सा भी है और चिंतित भी। विदित हो कि पिछले गुरूवार को ही उनके एक कार्यकर्म में अमूल्या नामक लड़की ने पकिस्तान जिंदाबाद के नारे भी लगाए थे जिससे उनकी और उनकी पार्टी की किरकिरी भी हुई थी।फिलहाल पुलिस ने पठान पर केस दर्ज कर लिया है लेकिन इसपर सोशल मीडिया में एक तबके के लोग कर्नाटक पुलिस की भी फजीहत कर रहे हैं और उसकी तुलना ब्रिटिश ज़माने की पुलिस से कर रहे हैं।