national-flag

    नयी दिल्ली. हमेशा की तरह एक बार फिर देश में आज यानी 7 दिसंबर को सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया जा रहा है। गौरतलब है कि  भारत में 1949 से सशस्त्र सेना झंडा दिवस (Armed Forces Flag Day) हर साल 7 दिसंबर को ही मनाया जा रहा है। हम यह दिन उन सैनिकों को सम्मानित करने के लिए मनाते हैं,  जिन्होंने देश के सम्मान की रक्षा के लिए सीमाओं पर बहादुरी से जंग लड़ी है। 

    इसके अलावा सशस्त्र सेना झंडा दिवस (Armed Forces flag Day) भारतीय सशस्त्र सेना के कर्मियों के कल्याण के उद्देश्य से भी मनाया जाता है। इस दिन भारत की जनता से सशस्त्र सेना (Armed Forces) के वीर कर्मियों के लिए धन संग्रह किया जाता है और इस धन का प्रयोग सैनिकों के परिवारों की भलाई में भी खर्च किया जाता है। 

    जानें क्यों और कैसे हुई ‘सशस्त्र सेना झंडा दिवस’ को मनाने की शुरुआत

    दरअसल 28 अगस्‍त 1949 को भारत सरकार द्वारा तत्‍कालीन भारतीय सेना के जवानों के कल्‍याण के लिए धन एकत्रित करने के महत्वपूर्ण मकसद से एक कमेटी का गठन हुआ था और इसके बाद 7 दिसंबर की तारीख को सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाने के लिए चुना गया। तो इस तरह सशस्त्र सेना झंडा दिवस (Armed Forces Flag Day) मनाने की शुरुआत 7 दिसंबर 1949 से हुई थी।

    इसके बाद 1949 से हर साल 7 दिसंबर को सशस्‍त्र सेना झंडा दिवस मनाया जा रहा है। एक प्रधान कारण  ये भी है कि दरअसल, केंद्रीय मंत्रिमंडल की रक्षा समिति ने भी हमारे देश के वीर युद्ध दिग्गजों और उनके परिजनों के कल्याण के लिए 7 दिसंबर को सशस्‍त्र सेना झंडा दिवस (Flag Day India) मनाने का महत्वपूर्ण फैसला लिया था। 

    क्या है ‘सशस्त्र सेना झंडा दिवस’ का महत्व

    बता दें कि  सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर हुए धन संग्रह के हंमेशा से ही तीन प्रधान और मुख्य उद्देश्य रहे हैं : 

    • पहला युद्ध के समय हुई जनहानि में अपना सहयोग देना।
    • दूसरा सेना में कार्यरत कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण और सहयोग में भी अपना योगदान देना।
    • तीसरा सेवानिवृत्त कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण के लिए साहयता राशि खर्च करना।

    क्या होता है इस दिन ख़ास 

    गौरतलब है कि इस दिन इंडियन आर्मी (Indian Army), इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) और इंडियन नेवी (Indian Navy) तरह-तरह के विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करती है। बाद में इन कार्यकर्मों से  संग्रह हुआ धन ‘आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे फंड’ में डाल दिया जाता है, जिससे सेना के वीरों एवं उनके परिवारों के लिए अनेकों साहयता कार्य सुचारु रूप से हों। आइये हम भी सशस्त्र सेना झंडा दिवस में अपना सहयोग देकर अपना देश कके नागरिक होने का फर्ज निभाएं।