हेलीकॉप्टर हादसे में बच गए ग्रुप कॅप्टन वरुण सिंह, शौर्य चक्र से हो चुके है सन्मानित

    नई दिल्ली: तमिलनाडु के कुन्नूर (Coonoor)में बुधवार भारतीय वायु सेना का एमआई-17V5 हेलीकॉप्टर क्रैश (Helicopter Crash) हो गया। इस हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों का निधन हो गया। हालांकि, भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह (Varun Singh) बच गए है। वह गंभीर रूप से घायल हैं।  उनका वेलिंगटन में सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

    शौर्य चक्र से किया गया सम्मानित 

    ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह को इस साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। उन्हें यह सम्मान 2020 में एक हवाई आपातकाल के दौरान अपने एलसीए तेजस लड़ाकू विमान को बचाने के लिए दिया गया था। 

    वहीं वायुसेना ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, “बहुत ही अफोसस के साथ अब इसकी पुष्टि हुई है कि दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, श्रीमती मधुलिका रावत और 11 अन्य की मृत्यु हो गई है।” वायुसेना ने कहा कि दुर्घटना की ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ के आदेश दे दिए गए है। 

    Indian Air Force’s Group Captain Varun Singh, injured in military chopper crash, was awarded Shaurya Chakra on this year’s Independence Day for saving his LCA Tejas fighter aircraft during an aerial emergency in 2020. pic.twitter.com/BR53FlS18M

    — ANI (@ANI) December 8, 2021

    सुलुर वायुसेना स्टेशन से भरी थी उड़ान

     जनरल बिपिन रावत को ले जा रहा भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर ने कोयंबटूर के पास सुलुर वायुसेना अड्डे से उड़ान भरी थी। जो को तमिलनाडु के कुन्नूर के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जानकारी मिली है कि कोहरे और खराब मौसम की वजह से वायुसेना का एमआई-17वीएच हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया।