arrest

  • तहसीलदार की नाक के नीचे की घटना

नंदूरबार. नवापुर तहसील कार्यालय में एक दलाल को पांच सौ रुपये की रिश्वत लेते ब्यूरो ने गिरफ्तार किया है. तहसील कार्यालय में तहसीलदार की नाक के नीचे इस तरह रिश्वतखोरी का मामला उजागर होने से सनसनी फैल गई.

एंटी करप्शन ब्यूरो ने नवापुर तहसील कार्यालय में एक दलाल को पांच सौ रुपए रिश्वत स्वीकारने के आरोप में रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. पुलिस उप अधीक्षक शिरीष जाधव से प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता के पिता के नाम पर, पैतृक खेत की जमीन वागदी तालुका, नंदुरबार में समूह संख्या 16/1 है.

उनके चाचा इस कृषि भूमि के वारिस हैं.  जैसा कि वह अनपढ़ और बुजुर्ग हैं, शिकायतकर्ता और उसके पिता ने 18 फरवरी 2020 को तहसील कार्यालय, नवापुर में आवेदन किया था. उस संबंध में, तहसीलदार नवापुर ने शिकायतकर्ता के पिता और चाचा को आवंटन के संबंध में 17 सितंबर 2020 को एक नोटिस जारी किया था.

काम कराने के लिए मांग 500 रुपए

उस समय तहसील कार्यालय में एक दलाल सोमुवेल गावित ने काम करने के लिए 500 रुपये रिश्वत की मांग की थी. ब्यूरो ने जाल बिछाकर गांव के सामने गावित को रिश्वत लेते हुए शिरीष जाधव पुलिस उप अधीक्षक, नंदूरबार ब्यूरो के निर्देशन में इंस्पेक्टर जयपाल अहिररराव हेड कांस्टेबल उत्तम महाजन, संजय गुमाणे, मनोहर बोरसे , दीपक चित्ते ,संदीप नावडेकर, मनोज अहिरे  अमोल मराठे महिला पुलिस ने ज्योति पाटिल  को गिरफ्तार किया.