Public interest litigation filed for guidelines on covid investigation of mentally challenged homeless people

पालक मंत्री ने किया उद्घाटन

जलगांव. सरकारी कर्मी कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं. स्थानीय कर्मियों के लिए कोरोना महामारी को लेकर परामर्श केंद्र जिला परिषद में आरंभ किया गया है, जिसका उद्घाटन जलापूर्ति तथा स्वच्छता मंत्री गुलाबराव पाटिल के हाथों किया गया है, जिले में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए स्थानीय स्तर पर सभी सरकारी अधिकारी और कर्मचारी कोरोना को रोकने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं. कोरोना की घटनाएं बढ़ रही हैं, ऐसे में सरकारी कर्मियों को काउंसलिंग परामर्श उपलब्ध कराने जिला कलेक्टर अभिजीत राऊत और जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ  बी  एन  पाटील के मार्गदर्शन में, सभी स्थानीय स्तर के कर्मचारियों के लिए जिला परिषद जलगांव में एक सहायता और परामर्श केंद्र स्थापित किया गया है. काउंसलिंग सेंटर का उद्घाटन पालक मंत्री तथा जलापूर्ति स्वच्छता मंत्री गुलाबराव पाटील के हाथों से संपन्न कराया गया.

बोटे नोडल अधिकारी नियुक्त

 इस अवसर पर ज़िला परिषद अध्यक्षा रंजना पाटिल, उपाध्यक्ष लालचंद पाटिल, समाज कल्याण समिति सभापति जयपाल बोदडे, जिलाधिकारी अभिजीत राऊत, मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बी. एन. पाटील, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनोद गायकवाड, सामाजिक न्याय विभाग सहायक आयुक्त योगेश पाटील, उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमलाकर रणदिवे, बी. ए. बोटे, डिगंबर लोखंडे आदि उपस्थित थे. काउंसलिंग सेंटर के नोडल अधिकारी के रूप में उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी. ए. बोटे को नियुक्त किया है.

सुझाव देने की अपील

कोरोना से संबंधित किसी भी प्रकार का परामर्श सुबह 8:00 से रात 8:00 बजे तक काउंसलिंग सेंटर के टेलीफोन नंबर 0257-2224268 से संपर्क स्थापित कर समस्या सुझाव से अवगत करा सकते हैं. इसी तरह शिकायत परामर्श suvidha.zpjalgaon@gmail.com पर दर्ज कराएं. कोविड 19 संबंधित शिकायतें परामर्श और सुझाव साधन सामग्री का अभाव तथा अन्य किसी भी प्रकार की शिकायत और परामर्श साइड पर दर्ज कराई जाने की अपील कोरोना से लड़ रहे योद्धा सरकारी कर्मियों को अपील बोटे ने की है.