संवर्धन कार्यशाला का सफल आयोजन

जलगांव. अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल (ABTMM) के तत्वावधान में तेरापंथ महिला मंडल (Terapanth Mahila Mandal) जलगांव द्वारा खानदेश  स्तरीय संवर्धन कार्यशाला (Workshop) का वर्चुअल आयोजन किया गया।  कार्यक्रम का शुभारंभ ABTMM के संरक्षिका ताराजी सुराणा द्वारा मंगल -पाठ के उच्चारण के साथ किया गया। ज्ञानशाला के आध्यात्मिक पर्यवेक्षक मुनि उदित कुमार ने क्षमा विषय के महत्व को बताते हुए सारगर्भित मंगल उद्बोधन प्रदान किया। तत्पश्चात खानदेश एवं महाराष्ट्र प्रांत के सुदूर क्षेत्रों द्वारा अतिथियों के स्वागत की सुंदर प्रस्तुति वीडियो क्लिप के माध्यम से दिखाई गई।

क्षमा मांगने वाला, क्षमा करने वाला दोनों महान

इस कार्यशाला में मुख्य अतिथि रूप में विधायक सुरेश भोले उपस्थित थे. इस अवसर पर गनी मेमन एवं उमेश सेठिया ने बहुत ही सुंदर एवं प्रभावशाली ढंग से क्षमा के महत्व पर मार्गदर्शन किया। राष्ट्रीय अध्यक्षा पुष्पाजी बैद ने  कहा कि क्षमा मांगने वाला और क्षमा करने वाला दोनों महान होते हैं। क्षमा विनम्रता का प्रतीक है।क्षमा देना बड़प्पन नहीं है बल्कि उदारता का प्रतीक है। महामंत्री तरुणा बोहरा ने कहा कि यदि हमें सही मायने में सवर्धन करना है तो सबको क्षमा करते हुए और क्षमा मांगते हुए अपने मन को साफ करना होगा। तेरापंथ महिला मंडल एवं कन्या मंडल द्वारा संवर्धन गीत पर बहुत ही सुंदर प्रस्तुति दी गई।  इस वर्चुअल कार्यशाला में कई गणमान्य अतिथि शामिल हुए। कार्यक्रम का व्यवस्थित और कुशल संचालन कोषाध्यक्ष विनीता समदरिया एवं मंत्री  रीटा बैद ने किया।