राज्य में कॉलेजों को शुरू करने जैसी स्थिति अभी नहीं : उदय सामंत

कोल्हापुर. कोरोना का असर अब भी दिखाई दे रहा है इसलिए महाराष्ट्र में इन हालातों में कॉलेज को शुरू करने के राज्य सरकार के कोई इरादा नहीं हैं. राज्यभर में कोरोना का प्रभाव कम हो रहा है, फिर भी पूरी तरह से स्थिति जब तक काबू में नहीं आती तब तक कॉलेज शुरू करने के बारे में कोई विचार नही हैं ऐसा उच्च और तंत्र शिक्षामंत्री उदय सामंत ने कोल्हापुर में बताया.

कोल्हापुर में शिवाजी विश्व विद्यालय में मंत्री उदय सामंत ने अंतिम वर्ष के परीक्षाओं का प्रशासन से ब्यौरा लिया. उसके बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत की.सामंत ने कहा कि कोरोना की स्थिति पर काबू पाने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा कर राज्य में कॉलेज शुरू करने के बारे में निर्णय लिया जाएगा.

जल्द शुरु होगी लाइब्रेरी

राज्यभर में लाइब्रेरी को शुरू करने के लिए सरकार  सकारात्मक है और उसके लिए तत्त्वतः निर्णय लिया गया है. लेकिन उसके किस तरह से नियम बनाये जाएं इस बारे आनेवाले 8 दिनों में निर्णय लिया जाएगा. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी राज्य में लाइब्रेरी को शुरू करने के बारे में निर्णय लेना अनिवार्य है ऐसा सूचित किया है.जल्दी ही लाइब्रेरी शुरू हो जाएगी ऐसा  मंत्री  सामंत ने स्पष्ट किया.

शिनोली गांव में शिक्षा संकुल का निर्माण किया जाएगा

सीमावर्ती इलाकों में शिक्षा संकुल के बारे में  उन्होंने बताया कि सीमावर्ती इलाके में  शिनोली गांव में 10 एकड़ जगह है, जहां जल्दी ही शिक्षा संकुल का निर्माण किया जाएगा.आनेवाले जनवरी माह से इस शिक्षा संकुल में विविध पाठ्यक्रम की शुरुआत होगी. कोरोना की इस स्थिति में सभी स्कूल और कॉलेज बंद हैं ऐसे में संस्था चालक छात्रों से सख्ती से फीस वसूलते नजर आ रहे हैं. इन संस्थान चालकों के खिलाफ शिक्षा उपसंचालक कार्यालयो में शिकायत दर्ज की जाएं. उन पर निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी. ऐसा आश्वासन भी मंत्री उदय सामंत ने दिया.