Rameshwaram Sharma

भोपाल: ‘जय श्री राम’ के नारे को लेकर भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) लगातार तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) और पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Mamata Banerjee) पर हमलवार है। इसी क्रम में अब मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma) ने बैनर्जी को रामायण (Ramayan) की एक प्रति भेजी है। रविवार को मीडिया से बात करते हुए शर्मा ने कहा, “ममता दीदी, क्या आप चरमपंथियों के दबाव के कारण जय श्री राम का जाप नहीं कर रही हैं? अगर राम बोलने से चुकेंगी तो आप का जय श्री राम हो जाएगा।”

ज्ञात हो कि, नेताजी शुभास चंद्र बोस की 125वीं जयंती के मौके पर कोलकाता स्थित विक्टोरिया मेमोरियल पर केंद्र सरकार ने कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसमें प्रधानमंत्री मोदी सहित मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी भी मौजूद थी। इस दौरान वह जैसे ही भाषण देने के लिए खड़ी हुई तो लोगों ने जय श्री राम का नारा लगाना शुरू कर दिए।

लोगों के लगाए इन नारों से वह नाराज़ हो गईं और मंच से बोलने से इनकार कर दिया। साथ ही उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि सरकार के कार्यक्रम में गरिमा होनी चाहिए। यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है यह ऑल पार्टी और सरकार का कार्यक्रम है। मैं प्रधानमंत्री मोदी और पर्यटन मंत्री का आभारी हूँ, लेकिन किसी को बुलाकर अपमान करना सही नहीं है।

राम का चरित्र समझे 

शर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा, “पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी को रामायण जी भेजी है उम्मीद है दीदी रामायण जी का पाठ करेंगी उनके चरित्र को समझेंगी और आगे से जय श्रीराम के नारों का विरोध नही करेंगी।”

 

पहला मौका नहीं जब नारे से हुई नाराज़

श्री राम के नारे से मुख्यमंत्री ममता का नाराज होने का यह पहला मौका नहीं है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव के समय भी लोगों द्वारा लगाए नारे से आग बबूला हो चुकी है, जिसका  वीडियो देश भर में वायरल हो गया था।

वीडियो के अनुसार, मुख्यमंत्री का काफिला पूर्वी मदिनापुर के एक ग्रमीण इलाके से निकल रहा था तभी वहां मौजूद लोगों ने उन्हें देखते ही जय श्री राम का नारा लगाना शुरू कर दिया। लोगों के नारे सुनते ही मुख्यमंत्री ने अपना आप खो दिया और गाड़ी से उतारकर लोगों के बीच पहुँचकर सामने आकर नारा लगाने को कहने लगी।” बाद में इसको लेकर मामला तक दर्ज किया था, साथ ही कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था।