CORONA

    भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कुछ सप्ताह तक कोरोना वायरस संक्रमण (Corona Virus) के नये मामलों में कमी आने के बाद अब इस महामारी के नये मामले प्रदेश में विशेष रूप से इंदौर में बढ़ने लगे हैं। विशेषज्ञों ने इसके लिए इस बीमारी से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों के पालन में लापरवाही को जिम्मेदार बताया है ।

    एक अधिकारी ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से प्रदेश में रोजाना 200 से अधिक कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामले सामने आ रहे हैं । केन्द्र सरकार ने हाल ही में कहा था कि दक्षिण अफ्रीका में पाये गये एसएआरएस-सीओवी-2 के भारत में चार मामले जनवरी में पाये गये हैं, जबकि ब्राजील के नये प्रकार से संक्रमित व्यक्ति फरवरी के पहले सप्ताह में भारत में पाया गया है।

    स्थानीय अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक सरमन सिंह ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से मध्यप्रदेश में इस बीमारी के नये मामले बढ़ रहे हैं। उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सीमायें आपस में सटी हुयी है और यह भी एक कारण हो सकता है क्योंकि महाराष्ट्र बुरी तरह कोनोना वायरस संक्रमण से प्रभावित है ।

    उन्होंने कहा कि इसके अलावा, लोगों में इस महामारी के प्रति भय भी कम हो गया है, इसलिए वे अब लापरवाही से काम कर रहे हैं और प्रोटोकॉल का पालान सख्ती से नहीं कर रहे हैं । सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस के नये मामले फिर से बड़ी तेजी से बढ़ने की आशंका है। इसलिए लोगों को तब तक सावधानी बरतनी चाहिए, जब तक देश का अंतिम व्यक्ति महामारी से ठीक नहीं हो जाता।

    सरकारी आंकड़ों के अनुसार, प्रदेश में सितंबर 2020 में लगातार 10 दिनों तक 2,000 से अधिक नये मामले आये, लेकिन इन आंकड़ों में साल के अंत तक गिरावट शुरू हो गयी मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक कुल 2,59,128 लोग संक्रमित हुए हैं, जिनमें से 3,850 लोगों की मौत हो चुकी है और 1994 मरीजों का उपचार चल रहा है तथा 2,59128 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं ।

    इंदौर जिले में कोरोनावायरस के मामलों की संख्या तेजी से बढ़ी है। शनिवार को पूरे मध्य प्रदेश में 257 नये मामले आये जिनमें से 161 अकेले इंदौर जिले से हैं । प्रदेश में इंदौर जिले में सबसे अधिक 929 मौतें हुई हैं।

    कोविड-19 इंदौर के नोडल अधिकारी अमित मालाकार ने बताया कि जनवरी में वायरस के नये मामले कम होने शुरू हो गये थे, लेकिन अब लोगों के लापरवाह रवैये के कारण कुछ दिनों से इसमें तेजी आने लगी है। उन्होंने कहा कि आजकल कई जगहों पर लोग बिना मास्क लगाये हुए नजर आ रहे हैं। इसके अलावा, वे दो गज की दूरी भी रख रहे हैं और सैनिटाइजर का इस्तेमाल भी काफी कम हो गया है।(एजेंसी)