कांग्रेस विधायक ने लगाया ईवीएम हैक का आरोप, कहा – बैलेट पेपर से भाजपा की औकाद सामने आ जाएगी 

भोपाल: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) परिणाम आते ही देश में एक बार फिर ईवीएम (EVM) को लेकर सवाल उठने लगे है. विपक्षी दल फिर से ईवीएम को हैक करने का आरोप लगाने लगे है. शनिवार को कांग्रेस (Congress) विधायक सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan singh Verma) ने भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) पर ईवीएम में गड़बड़ी करने का आरोप लगते हुए कहा कि, “बैलेट पेपर चुनाव होने पर बैलेट पेपर से बीजेपी को अपने ‘औकात’ के बारे में पता चलेगा.

जनता का समर्थन कांग्रेस के लिए था 

वर्मा ने कहा, “लोगों की बॉडी लैंग्वेज प्रदेश में कांग्रेस के पक्ष में थी, तेजस्वी यादव की रैलियों में लोगों की बड़ी भीड़ ने संकेत दिया कि बिहार में एकतरफा चुनाव था. मध्यप्रदेश में कांग्रेस और बिहार में महागठबंधन को जीत मिलेगी. मुझे पहले विश्वास नहीं था, लेकिन अब मैं यह करता हूं कि भाजपा ईवीएम का दुरुपयोग कर रही है.”

विकासशील राष्ट्र, इसका उपयोग क्यों नहीं रोक रहा है

पूर्व मंत्री ने कहा, “विकसित राष्ट्रों ने ईवीएम का उपयोग बंद कर दिया है. एक विकासशील राष्ट्र, इसका उपयोग क्यों नहीं रोक रहा है?. बैलेट पेपर पर चुनाव शुरू होने वाले दिन, बीजेपी को अपने ‘औकात’ के बारे में पता चलेगा.”

दिग्विजय सिंह ने भी आगया आरोप  

यह पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस ने ईवीएम पर सवाल उठाया है. इसके पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने ईवीएम को हैक करने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि, “ऐसा नहीं है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ नहीं हो सकती है और कुछ खास जगहों पर छेड़छाड़ की जा चुकी है. ये वो सीटें है जो हम किसी भी स्थिति में कभी नहीं हारे होंगे लेकिन हम हजारों वोट से हार रहे हैं.”

ज्ञात हो कि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए को एक बार फिर पूर्ण बहुमत मिला है. वहीं महागठबंधन को मुँह की खानी पड़ी पड़ी है. 243  विधानसभा सीट मेसे एनडीए को जहां 125 इस सीट मिली है वहीं महागठबंधन को 110 सीटों से संतोष करना पड़ा है. वहीं मध्यप्रदेश में हुए उपचुनाव में भाजपा को 28 सेटों में से 19 और कांग्रेस को 9 सीटों पर जीत मिली है.