मनसे की धमकी से झुकी अमेजॉन, ऐप में मराठी भाषा को प्राथमिकता

मुंबई. ऑनलाइन सेल्स की मल्टीनेशनल कंपनी अमेजॉन ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की उस मांग को मान लिया है, जिसमें उन्होंने कंपनी के ऐप में मराठी भाषा को प्राथमिकता देने की मांग की थी. मनसे की इस मांग पर अमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजॉस ने खुद संज्ञान लिया है. मनसे के अखिल चित्रे ने अमेजॉन को मराठी भाषा के इस्तेमाल को प्राथमिकता देने के संबंध में ई-मेल भेजा था. इस पर कंपनी के पीआर डिपार्टमेंट ने जवाब देते हुए कहा है कि इस वजह से जो आपको तकलीफ हुई, उसके लिए हमें खेद है.

कंपनी ने कहा है कि संबंधित विभाग को इस बारे में सूचित किया गया है और जल्द ही ऐप में मराठी भाषा को शामिल कर लिया जाएगा. चित्रे ने अमेजॉन के इस ई-मेल की एक कॉपी को ट्वीटर पर शेयर किया है. मनसे ऑनलाइन कंपनियों से मराठी भाषा के इस्तेमाल को प्राथमिकता देने के लिए लगातार मांग कर रही है. मनसे ने इसके लिए अमेजॉन और फ्लिपकार्ट की बीकेसी स्थित ऑफिस में जाकर आंदोलन की धमकी भी दी थी.