No differences between coalition partners of Maharashtra government: Shiv Sena

    मुंबई: महाराष्ट्र में सियासी बयानबाजी (Maharashtra Politics) का दौर शुरू है। कांग्रेस (Congress) ने विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में अकेले लड़ने की बात कही तो शिवसेना (Shiv Sena) बिफर गई है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना (Saamna) के जरिए कांग्रेस को जवाब दिया है। शिवसेना ने कहा कि कांग्रेस अकेले दम पर साल 2024 के चुनाव में पूर्ण बहुमत का दावा कर रही है, लेकिन ऐसा दावा बीजेपी ने भी किया था। बावजूद इसके 105 सीटें जीतने के बाद वह सरकार नहीं बना पाई। 

    सामना के जरिए शिवसेना ने कहा कि सूबे में मराठा, ओबीसी, धनकर रिजर्वेशन की मांग जोर पकड़ रही है। साथ ही कोविड का कहर भी पूरी तरह से थमा नहीं है। फिर भी कुछ ऐसे लोग हैं जिन्हें राजनीति की धुन लगी हुई है। शिवसेना ने कहा कि महाराष्ट्र के लोग राजनीति से पीड़ित है लेकिन इतने होंगे ऐसा नहीं आभास था। 

    वहीं कांग्रेस की तरफ से अपने दम पर चुनाव लड़ने पर शिवसेना का कहना है कि राजनीति में इच्छा, महत्वाकांक्षा होने में कोई गलत नहीं है। लेकिन अंत में बहुमत का आंकड़ा नहीं होगा तो बोलने से क्या फायदा होगा। देवेंद्र फडणवीस कहते थे मैं फिर आऊंगा लेकिन वे वापस नहीं आ पाए।