अब फॉरेन्सिक रिपोर्ट ही बताएगी डॉ. शीतल की मौत की वजह

  • रिपोर्ट पर लगी है सभी की निगाहें

चंद्रपुर. समाजसेवी बाबा आमटे की पोती, महारोगी सेवा समिति की सीईओ डा. शीतल आमटे के मौत की मूल वजह फॉरेन्सिक रिपोर्ट में ही छिपी हुई है. अब तक जितनी भी जांच हुई है उसमें पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि यह मुख्य रूप से आत्महत्या का मामला है. मामला काफी संवेदनशील और हाईप्रोफाईल होने की वजह से पुलिस कुछ भी स्पष्ट रूप से बताने को तैयार नहीं है.

 पुलिस का कहना है कि उसे भी फॉरेन्सिक रिपोर्ट की प्रतीक्षा है जिसके आने के बाद सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा. फिलहाल पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी है कि डा. शीतल के सामने ऐसी क्या मजबूरी रही होगी कि उन्होने ऐसा कदम उठाया है. पुलिस पूरे घटनाक्रम और घटनास्थल से मिले संदेहास्पद प्रमाणों को लेकर यह मानकर चल रही है कि डा. शीतल आमटे-करजगी की मौत स्वाभाविक नहीं हुई है. 

पुलिस हर पहलूओं का गहनता से अध्ययन करने में लगी हुई है. स्वयं जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे इस मामले हर जांच पड़ताल का अपडेट ले रहे है. पुलिस का कहना है कि जैसे ही उसे फॉरेन्सिक रिपोर्ट में मिलेगी इस घटना की तस्वीर पूरी तरह से स्पष्ट हो जाएगी.

जिस परिस्थितियों में डा. शीतल की मौत हुई है और अब तक जिस तरह से पुलिस जांच पड़ताल कर रही है उसे लेकर अब जिले भर के लोगों में इस प्रकरण को लेकर और उत्सुकता बढती जारही है.आने वाले दिनों में क्या खुलासा होगा इस बात को लेकर अब लोग भी काफी उत्सुक है. जिसके चलते पुलिस पर जांच को शीघ्र ही पूरा करने का दबाव बढता जारहा है. यही कारण है कि जिला पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे ने मुंबई के प्रयोगशाला प्रमुख को लैटर भेजकर रिपोर्ट शीघ्र भिजवाने को कहा है.