किसानों को देनी होगी पहली प्राथमिकता, 80वें जन्मदिन पर बोले पवार

  • वर्चुअल रैली से जनता को किया संबोधित

मुंबई. पूरे देश को अनाज खिलाने वाले किसानों को हमें पहली प्राथमिकता देनी होगी। यह बात एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (NCP President Sharad Pawar) ने अपने 80 वें जन्मदिन पर नरीमन पॉइंट स्थित वाई.बी. चव्हाण सेंटर (Yb Chavan Center) में आयोजित कार्यक्रम में कही। वर्चुअल रैली (Virtual rally) के माध्यम से आम जनता को संबोधित करते हुए पवार ने कहा कि देश के विकास में किसानों को अहम योगदान है। ऐसे में उनकी समस्याओं का हल हमें निकालना ही होगा।

पवार ने यह बयान दिल्ली में किसान कानून के विरोध में चल रहे आंदोलन के संदर्भ में दिया है। इस मौके पर राकां प्रदेशाध्यक्ष व जलसंपदा मंत्री जयंत पाटिल (Jayant Patil), विधान परिषद सभापति रामराजे नाईक निंबालकर, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar), सांसद प्रफुल पटेल (Praful Patel), सुनील तटकरे (Sunil Tatkare), विधानसभा उपाध्यक्ष नरहरी झिरवाल, अल्पसंख्याक मंत्री नवाब मलिक, सांसद फौजिया खान, सुप्रिया सुले (Supriya Sule), हेमंत टकले, शिवाजीराव गर्जे, महिला प्रदेशाध्यक्ष रुपाली चाकणकर,  मुख्य प्रवक्ता महेश तपासे समेत कई नेता मौजूद थे।

विचारधारा से समझौता नहीं

पवार ने कहा कि राजनीतिक कार्यकर्ताओं को कभी विचारधारा से समझौता नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि महात्मा ज्योतिबा फुले, बी.आर. आंबेडकर और छत्रपति शाहूजी महाराज की प्रगतिशील विचारधारा को राजनीतिक कार्यकर्ताओं की नई नस्ल के बीच विकसित किये जाने की आवश्यकता है। इन महापुरुषों ने सामाजिक और राजनीतिक काम करते हुए पारिवारिक जिम्मेदारियों की उपेक्षा नहीं करने की सीख दी थी।

समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे विकास

राकां अध्यक्ष पवार ने कहा कि विकास योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों ने मुझे पिछले पांच दशकों से उनके लिए काम करने का मौका दिया। इसके लिए मैं सभी का शुक्रिया अदा करता हूं।  

सरकार के स्तम्भ  उद्धव

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने शरद पवार को महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार का स्तंभ और मार्गदर्शक बताया। उन्होंने कहा कि पवार की ऊर्जा और उत्साह सभी के लिए प्ररेणास्रोत है। ठाकरे ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि उनमें यही ऊर्जा और उत्साह भरा रहेगा। हम उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र की कामना करते हैं। पवार ने पिछले साल राकां-कांग्रेस का शिवसेना के साथ गठबंधन कराने में अहम भूमिका निभाई थी।

हिमालय के ‘सह्याद्रि’  :  अजीत पवार

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Deputy Chief Minister Ajit Pawar) ने अपने चाचा शरद पवार को जन्मदिन की शुभकामना देते हुए उन्हें हिमालय का ‘सह्याद्रि’ कह कर संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 80 साल की उम्र में भी वे उसी जोश के साथ काम कर रहे हैं। अजीत ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इस सदी में पवार जैसा कोई नेता होगा। मुझे गर्व है कि हमारे पास पवार जैसे नेता हैं।

पवार की तपस्या से बढ़ेगा देश : जयंत पाटिल 

राकां प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने कहा कि शरद पवार की आठ दशक की तपस्या और उनकी साधना देश और राज्य को आगे ले जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान हमने कई लोगों को खो दिया। इस वजह से पार्टी अध्यक्ष जन्मदिन मनाने के लिए राजी नहीं थे। हालांकि हमनें जोर देकर कहा कि हम बिना भीड़ किए वर्चुअल मीडिया के माध्यम से जन्मदिन मनाएंगे, ताकि उनका संदेश सभी लोगों तक पहुंच सके। इसके बाद पवार इस पर राजी हुए।  

पवार के पीछे मजबूती से खड़ा होना चाहिए : प्रफुल पटेल

राकां सांसद प्रफुल पटेल ने कहा कि महाराष्ट्र समेत पूरे देश को पवार के पीछे मजबूती से खड़ा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस तरह पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने पार्टी के ज्यादा सांसद बनाए हैं। उसी तरह पवार के नेतृत्व में महाराष्ट्र में भी सभी 48 सांसद पवार के पीछे खड़े हो सकते हैं।

मुश्रिफ हुए भावुक

ग्राम विकास मंत्री हसन मुश्रिफ राकां अध्यक्ष पवार को जन्मदिन की बधाई देते हुए भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि मुझे जैसे साधारण कार्यकर्ता को विधायक व मंत्री बनाने में शरद पवार का बड़ा योगदान है। मुश्रिफ ने कहा कि एक अल्पसंख्यक नेता को पवार ने पार्टी में पूरी अहमियत दी है।  

पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राकां अध्यक्ष शरद पवार को जन्मदिन की बधाई देते हुए ईश्वर से उनके दीर्घायु व स्वस्थ रहने की कामना की। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पवार प्रमुख विपक्षी नेताओं में से एक हैं और उन्हें देश में भाजपा विरोधी मोर्चे का प्रमुख चेहरा माना जाता है।