शेयर मार्केट ने तोड़ी सबकी कमर, रोकनी पड़ी ट्रेडिंग

नई दिल्ली. कोरोना वायरस ने दुनिया भर के बाज़ार कि कमर तोड़ दी है। भारत में इसके असर से सर निराश हैं। जहां एक तरफ लोग कोरोना से अपनी जान गवा रहे है वही शेयर मार्केट ने सबकी जान निकाल दी

नई दिल्ली. कोरोना वायरस ने दुनिया भर के बाज़ार कि कमर तोड़ दी है।  भारत में इसके असर से सर निराश हैं।  जहां एक तरफ लोग कोरोना से अपनी जान गवा रहे है वही शेयर मार्केट ने सबकी जान निकाल दी हैं।  आज बाज़ार खुलते ही सेंसेक्स में 3000 अंक की गिरावट देखने को मिली।  वही निफ्टी 8900 से नीचे पहुंच गया है।  सेंसेक्स, निफ्टी के लोअर सर्किट छूने के बाद में शेयर बाजार में 45 मिनट के लिए कारोबार बंद।  निफ्टी में 966 अंकों की तेज गिरावट के बाद लोअर सर्किट लग गया है। 

सेंसेक्स में शामिल सभी शेयरों में नकारात्मक रुख देखा गया। इससे पहले 17 मई 2004 में P-NOTE के चलते बाजार गिरा था तब लोअर सर्किट लगाया गया था।  बाजार के खुलने के बाद अगर निफ्टी 1 बजे तक  9413 के  स्तर तक पहुच जाता है तो मार्केट में पहला सर्किट लगता है और इस सर्किट के बाद  ट्रेडिंग 45 मिनट के लिए होल्ड कर दी जाती है। वहीं अगर 1 बजे के बाद और 2 बजे से पहले निफ्टी 8869 के स्तर पर जाता है तो 1 घंटा 45 मिनट के लिए ट्रेडिंग बंद कर दी जायेगी और दूसरा लोअर सर्किट लगेगा।