अक्षय पात्र फाउंडेशन ने 33 लाख जरूरतमंदों को बांटा भोजन

मुंबई. इस्कॉन के सौजन्य से संचालित सामाजिक संस्था अक्षय पात्र फाउंडेशन (Akshaya Patra Foundation) ने कोरोना काल की शुरुआत से लेकर आज तक महाराष्ट्र के ग्रामीण और आदिवासी क्षेत्रों में 33 लाख लोगों को भोजन उपलब्ध कराया है. संस्था अभी भी क्षेत्र के जरूरतमंदों में भोजन और राशन किट बांट रही है. 20 वर्ष पूर्व 2000 में अपनी स्थापना काल से ही अक्षय पात्र हजारों सरकारी स्कूलों के लाखों बच्चों को सरकारी मिड डे मील योजना के तहत पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराती आ रही है.

संस्था के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी पं. मधु दास प्रभु ने बताया कि संकट के समय लोगों को भोजन उपलब्ध कराना हमारी मानवीय जिम्मेदारी है. इसीलिए जब भी राष्ट्र के किसी भी प्रदेश में प्राकृतिक आपदा आती है, ऐसे समय हमारे स्वयंसेवक तत्पर दिखते हैं. कोरोना काल में संस्था ने 18 राज्यों और 2 संघ शासित प्रदेशों में भी खाद्य सामग्री राहत किट का वितरण किया है. इस साल 28 मार्च से 6 अक्टूबर तक अक्षय पात्र ने भोजन और राशन किट के रूप में महाराष्ट्र में 33 लाख लोगों को भोजन उपलब्ध कराया है. आज भी मुंबई सहित पुणे, ठाणे, नागपुर, नासिक और औरंगाबाद में कम्युनिटी किचन चल रहे हैं. इसमें सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अन्य सावधानियां बरती जा रही हैं.