2023 तक पूरा करें विक्रोली विद्युत उपकेंद्र परियोजना, CM उद्धव ठाकरे ने दिया निर्देश

  • परियोजना में विलंब के लिए जतायी नाराजगी

मुंबई. पिछले दिनों मुंबई सहित एमएमआर के विभिन्न क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति ठप होने के मामले को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गंभीरता से लिया है. मुंबई में अखंडित विद्युत आपूर्ति के लिए विक्रोली में प्रस्तावित 400 केवी की विद्युत उपकेंद्र परियोजना को 2023 तक पूरा करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने परियोजना में देरी को लेकर भी नाराजगी जताई है. इस परियोजना को वर्ष 2009 में मान्यता मिली थी.

पिछले सोमवार को ग्रिड फेल हो जाने की वजह से मुंबई, ठाणे, नवी मुंबई और रायगढ़ में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई थी. जिसको लेकर मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास वर्षा में विद्युत परियोजनाओं की समीक्षा की. इस अवसर पर सांसद विनायक राउत, मुख्य सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार अजोय मेहता, अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष सिंह, प्रधान सचिव विकास खारगे, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव असीम कुमार गुप्ता, महापारेषण कंपनी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक दिनेश वाघमारे सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि विक्रोली में प्रस्तावित विद्युत उपकेंद्र से मुंबई की बिजली की जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा. इस परियोजना से 1000 मे.वा. विद्युत आपूर्ति की अतिरिक्त व्यवस्था 2023 तक निर्माण करना अपेक्षित है. उर्जा विभाग के प्रधान सचिव असीम गुप्ता ने बताया कि खारघर उपकेंद्र के पास 400 केवी विद्युत लाइन का निर्माण किया जाएगा. इसके साथ ही तालेगांव- कलवा 400 केवी की विद्युत लाइन से विक्रोली तक 400 केवी विद्युत लाइन और पडघा, नवी मुंबई इस ग्रिड उपकेंद्र का कनेक्शन दिया जाएगा. सभी को समाहित कर मुंबई के लिए 1000 मे.वा. बिजली की अतिरिक्त व्यवस्था की जानी है.