Record corona cases surfaced in Uttarakhand, 85 deaths in 24 hours, 6251 new cases
File

– बोरीवली एवं कांदिवली में भी बढ़ रही है संख्या

मुंबई. मनपा प्रशासन की तरफ से भले ही दावा किया जा रहा है कि मुंबई में कोरोना का संक्रमण कम हुआ है.कोरोना मरीजों की संख्या दो गुना होने में औसतन 30 दिन का समय लग रहा है, लेकिन हकीकत यह है कि उपनगरों में कोरोना वायरस का प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है. शुरु में मध्य मुंबई कोरोना का हॉटस्पॉट था अब उत्तर मुंबई हॉटस्पॉट बन रहा है. दहिसर, बोरिवली एवं कांदिवली में कोरोना मरीजों की संख्या मुंबई के अन्य इलाकों से कम जरुर है, लेकिन संख्या में बढ़ोत्तरी की दर मुंबई के अन्य क्षेत्रों से अधिक है.मनपा के आर-उत्तर वार्ड में महज 13 दिनों में मरीजों की संख्या दो गुना हुई है.

मुंबई में कोरोना पीड़ितों की संख्या देश भर में सर्वाधिक

 मुंबई में कोरोना पीड़ितों की संख्या देश भर में सर्वाधिक है. वरली, धारावी, अंटाप हिल जैसे इलाकों में कोरोना कंट्रोल हुआ है. लेकिन अब इसका असर उपनगरों में देखा जा रहा है.पिछले कुछ दिनों में अंधेरी एवं जोगेश्वरी पूर्व इलाके में कोरोना तेजी से बढ़ा है. कोरोना मरीजों की सर्वाधिक संख्या 4336 के-पूर्व वार्ड में है, लेकिन मरीजों के बढ़ने की रफ्तार 3.09 प्रतिशत है. 

झोपड़पट्टी इलाके में बढ़ रहा संक्रमण

आर-उत्तर वार्ड यानी दहिसर इलाके में मरीजों की संख्या अन्य वार्डों की अपेक्षा बहुत कम है, लेकिन मरीजों के बढ़ने की रफ्तार 5.3 प्रतिशत है.आर-उत्तर वार्ड में पिछले 10 जून को कोरोना मरीजों की संख्या 765 थी जो 17 जून को बढ़ कर 1097 हो गयी. इसी तरह आर-मध्य वार्ड बोरिवली में मरीजों के दो गुना होने की अवधि 20 दिन है. बोरिवली में 10 जून को कोरोना मरीजों की संख्या 1337 थी जो अब बढ़ कर 1796 हो गयी है. मरीजों की संख्या बढ़ने का दर 4.3 प्रतिशत है. कांदिवली पूर्व एवं पश्चिम इलाके में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है.10 जून को आर-दक्षिण वार्ड में कोरोना के 1656 मरीज थे जो बढ़ कर 2113 हो गए हैं.वार्ड में मरीजों के बढ़ने की रफ्तार 3.6 प्रतिशत है.

नहीं हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन 

 मुंबई के उप महापौर रहे मोहन मिठबावकर ने बताया कि कोरोना फैलने का मुख्य कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया जाना है.गोराई इलाके में सस्ते दर के राशन की दुकान एवं सब्जियों की दुकानों पर भीड़ उमड़ती है जिसकी वजह से भीमनगर झोपड़पट्टी व अन्य इलाकों में कोरोना बढ़ रहा है. पूर्व नगरसेवक शिवानन्द (शिवा) शेट्टी पूरे परिवार के साथ कोरोना की चपेट में आ गए थे.इस बीच उनकी मां की मौत भी हो गयी. शिंपोली स्थित शिवाजीनगर,गोराई म्हाडा कालोनी जैसे इलाकों में कोरोना के मरीज अधिक हैं. बोरीवली के बीजेपी नगरसेवक विद्यार्थी सिंह का कहना है कि उनके वार्ड में कोरोना के मरीज बहुत कम हैं, लेकिन दूसरे वार्डों में संख्या बढ़ रही है. ज्यादातर लोग गांव चले गए हैं,इसकी वजह से भीड़ भाड़ कम है. भीड़ बढ़ने पर संक्रमण का प्रभाव अधिक हो सकता है.