corona
File Photo

  • सितंबर में कोविड केसेस में हुई 79 प्रतिशत की वृद्धि

सूरज पांडे

मुंबई. मनपा के अधिकारियों ने कोरोना ग्रसितों को लेकर जो अनुमान लगाया था वो पूरी तरह गड़बड़ा गया है. सितंबर महीने में कोरोना से ग्रसित होने वाले नए मामलों में 79 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. लॉकडाउन में छूट के बाद लोग काम के लिए घरों से निकल रहे है, मास्क न पहनने, सोशल डिस्टेनसिंग के नियम पालन करने में लापरवाही बरतने के कारण मामलों में वृद्धि होने की बात मनपा अधिकारियों ने कही.

मुंबई में कोरोना के मरीजों की संख्या 4 अक्टूबर तक 1 लाख 90 हजार पहुंचने का अनुमान मनपा ने लगाया था, लेकिन मरीजों की संख्या 2 लाख 13 हजार तक पहुंच गई. मनपा स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़ों पर नजर डाले तो सितंबर महीने में कोरोना के 60,301 नए मामलों की पुष्टि हुई, जबकि अगस्त महीने में 33,606 लोगों में ही कोरोना की पुष्टि हुई थी.

जो अनुमान लगाया था उससे अधिक लोग वायरस से संक्रमित हुए

ग़ौरतलब है कि सितंबर महीने के शुरुआती 9 दिनों में ही 18,412 नए मामलों की पुष्टि हुई थी. मामलों में जिस प्रकार से बढ़त हुई उसका अनुमान बीएमसी अधिकारियों ने भी नहीं लगाया था. अतिरिक्त मनपा आयुक्त (स्वास्थ्य) सुरेश काकानी ने कहा कि लॉकडाउन में छूट के बाद मामलों में वृद्धि होना तय है. हमने जो अनुमान लगाया था उससे अधिक लोग वायरस से संक्रमित हुए हैं, लेकिन हमने इस चुनौती से लड़ने के लिए पहले से ही तैयारी कर ली थी.  

मामलों में वृद्धि के कई कारण

कोविड टास्क फोर्स के सदस्य और जसलोक अस्पताल के संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. ओम श्रीवास्तव ने कहा कि मामलों में वृद्धि के कई कारण हैं. लोगों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है. दूसरा कारण मौसम में हो रहा बदलाव भी एक कारण हो सकता है. मेरी मुंबईकरों के लिए यही सलाह रहेगी कि वे सोशल डिस्टेनसिंग के नियम का पालन करें, बाहर निकलने तो मास्क पहने, साफ-सफाई पर ध्यान दें और यदि उन्हें बीमारी के कोई लक्षण दिखते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.