Rain in Nagpur

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में आखिरकार मानसून (Monsoon) का आगमन हो चुका है। राज्य के दक्षिण पश्चिम यानी के तटीय क्षेत्र में मानसूनी बारिश (Rain) शुरू हो गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शनिवार को औपचारिक घोषणा की है। मौसम वैज्ञानिकों की माने तो 9 से 10 जून तक मुंबई (Mumbai) में मानसून का आगमन हो जाएगा।

    आईएमडी क्षेत्रीय केंद्र की निदेशक शुभांगी भुते ने कहा कि मानसून उम्मीद के मुताबिक रहा है। दक्षिण पश्चिम मानसून महाराष्ट्र में पहुंच गया है। यह औपचारिक रूप से तटीय रत्नागिरी जिले में हरनाई बंदरगाह में पहुंच गया है। इसके दस्तक देने का वास्तविक क्षेत्र सोलापुर तथा मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों तक और उसके बाद तेलंगाना एवं आंध्र प्रदेश तक होता है। उन्होंने बताया कि मानसून से इन क्षेत्रों में बारिश आने की उम्मीद है। मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल है। कुछ दिनों पहले मौसम विभाग ने अनुमान जताया था कि मानसून के उत्तर तथा दक्षिण भारत में सामान्य रहने, मध्य भारत में सामान्य से अधिक रहने और पूर्व तथा पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम रहने का अनुमान है। 

    कोंकण क्षेत्र में शुक्रवार की रात से ही बारिश शुरू 

    मौसम का आंकलन करने वाली निजी संस्था स्काई मेट के प्रमुख मेट्रोलॉजिस्ट महेश पालावत ने बताया कि कोंकण क्षेत्र में शुक्रवार की रात से ही बारिश शुरू हो गई है। धीरे-धीरे मानसून मध्य महाराष्ट्र की ओर बढ़ेगा। 10 जून तक मुंबई पूरे राज्य मानसून पूरी तरह दाखिल हो जाएगा।