Representational Image
Representational Image

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) से एक अजीबोगरीब खबर सामने आई है, जहां डॉक्टर्स ने एक लड़के के पेट से एक बड़ा सा पत्थर बाहर (Doctors Remove 1KG Stone From Boy Urinary Bladder) निकाला है। इस पत्थर का वजन करीब एक किलोग्राम बताया गया है। कोलकाता का रहने वाला 17 वर्षीय के लड़के का 30 जून को जटिल सर्जरी कर मूत्राशय से यह पत्थर बाहर निकाला गया। दरअसल, लड़के का पिछले महीने डॉक्टर के पास फ़ोन आया, वह काफी दर्द में था और वह अपनी पेशाब को रोक नहीं पा रहा था। लड़का अनाथ है इसलिए वह अपने किसी रिश्तेदार के साथ डॉक्टर के पास पहुंचा। जहां डॉक्टर्स की टीम ने सफल सर्जरी की। 

    जानकारी के मुताबिक, लड़के का नाम रूबेन है। उसके जन्म के समय से ही उसके मूत्राशय में विकृत थी। वह एक्सस्ट्रोफी-एपिस्पेडियास कॉम्प्लेक्स (EEC) नामक बीमारी से जूझ रहा था। यह एक ऐसी दुर्लभ बीमारी है जो करीब एक लाख लोगों में से किसी एक। इस बीमारी में मरीज का मूत्राशय सामान्य रूप से काम नहीं कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप मूत्र लीकेज होता है। ऐसे में मुंबई के डॉक्टर राजीव रेडकर ने रूबेन का सफल सर्जरी कर उसको एक नया जीवन दिया है। हालांकि, करीब 15 साल पहले भी डॉ रेडकर ने रूबेन का इलाज किया था, जहां उन्होंने उसके मूत्राशय के आकार को बढ़ाने के लिए एक ऑपरेशन कर ऐसी व्यवस्था की थी जिससे वह पेशाब कर सके। 

    डॉक्टर राजीव रेडकर और उनकी टीम ने सर्जरी में ब्लैडर से एक बड़ा कैल्शियम ऑक्सालेट स्टोन निकाला, जिसका वजन लगभग एक किलोग्राम था। उन्होंने उसके बढ़े हुए मूत्राशय का भी ऑपरेशन किया। डॉक्टरों ने बताया कि यह सर्जरी बहुत ही चुनौतीपूर्ण थी।सर्जरी के बाद रूबेन अब ठीक महसूस कर रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक, उसकी किडनी भी अच्छी तरह काम कर रही है। रूबेन अनाथ होने की वजह से वह बिना पैसों के अस्पताल पहुंचा था। जिसके बाद अस्पताल को इस मामले के बारे में सूचित किया गया। बाद में उसकी जान बचाने के लिए रूबेन का इलाज मुफ्त में किया गया।