चीन के खिलाफ लोगों में गुस्सा

– मुंबई पुलिस चीनियों की तरह दिखने वाले पूर्वोत्तर राज्य के लोगों की सुरक्षा को लेकर सतर्क

– चीनी समझ कर पूर्वोत्तर राज्य के लोग पर फूट सकता है गुस्सा

मुंबई. मुंबई समेत देश भर में चीन के खिलाफ गुस्सा है. जहां चीनी सामानों का बहिष्कार हो रहा हैं, वहीं जगह-जगह लोग विरोध प्रदर्शन कर चाइनिज सामानों की होली जला रहे हैं. मुंबई में बड़ी संख्या में पूर्वोत्तर राज्यों के लोग रहते हैं, जो चीनी लोगों की तरह दिखते हैं. वह चाइनिज के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में हिंसा का शिकार हो सकते हैं. इसको लेकर मुंबई पुलिस सतर्क है. शहर के जिन इलाकों में पूर्वोत्तर राज्यों के लोग रहते हैं, वहां पुलिस की सुरक्षा बढ़ाई गई है.

पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों के रहने वाले ठिकानों के आसपास सुरक्षा बढ़ाई

दक्षिण मुंबई के वरली समेत एंटापहिल, मरोल, लोखंडवाला, मालाड, वाकोला और खार दांडा इलाके में बड़ी संख्या में पूर्वोत्तर राज्यों के पढ़ने वाले छात्र, नौकरी और काम धंधे करने वाले लोग रहते हैं. उनमें लोगों के भ्रम के कारण हिंसा का शिकार होने का डर है.

हमें मुंबई पुलिस पर विश्वास

पूर्वोत्तर राज्यों के लोगों के लिए काम करने वाली सामाजिक संस्था ‘ कनेक्ट फाउंडेशन ‘ के ट्रस्टी योगेश पाताडे का कहना है कि मुंबई में रहने वाले आसाम, मेघालय, मणीपुर, नागालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा और सिक्किम समेत पूर्वोत्तर के राज्यों के लोग बढ़ी संख्या में  हैं और नौकरी सहित विभिन्न व्यवसाय करते हैं. ये लोग भले ही चेहरे से चीनी लोगों की तरह दिखें,लेकिन वह हैं तो पक्के देश भक्त.  उन्हें अपने देश भारत के प्रति बेहद प्यार है. उनका दिल भारत के लिए धड़कता है और उनमें भी चीन के प्रति गुस्सा है. जिस तरह से हमारे सेना के 20 जवानों को मारा गया, पूर्वोत्तर के राज्यों के लोग भी चीन के इस घिनौनी हरकत का  धिक्कार करते हैं. ऐसे पूर्वोत्तर के राज्यों के मुंबई में रहने वाले भाई-बहनों की सुरक्षा होनी चाहिए, जिससे वह अनजाने  मे हिंसा का शिकार न हो. मुंबईवासी पूर्वोत्तर के राज्यों के मुंबई में रहने वाले भाई-बहनों की सहायता करें. वह भी देशवासी हैं और उनमें भी देश के प्रति प्यार है. नागालैंड के मुंबई में रहने वाले नागालैंड वेलफेयर एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी दिजांग कामसोन का कहना है कि जिस तरह का माहौल है, उससे हमें डर लगता है. पर हमें मुंबई पुलिस पर विश्वास है. मुंबई के लोग भी हमें समझेंगे और हमारे साथ देशवासी का व्यवहार करेंगे.

मुंबई पुलिस पूर्वोत्तर के लोगों की सुरक्षा को लेकर सतर्क है. पुलिस की ओर से उनके रहने वाले इलाकों में विशेष चौकसी बरती जा रही है. –– प्रणय अशोक. प्रवक्ता. मुंबई पुलिस