ज्वैलर्स व मोबाइल दुकानदारों के साथ पुलिस ने की बैठक

  • सुरक्षा को लेकर दिए गए सुझाव

नालासोपारा. ज्वैलर्स व मोबाइल की दुकान समाज के बीच एक आर्थिक व उपयोगी केंद्र है. जिसके चलते अपराधी इसे अपने निशाने पर रखते हैं. इन दुकानों पर लूटमार होने से समाज को भारी आर्थिक नुकसान होता है. इसे देखते हुए मोबाइल व ज्वैलर्स दुकानदारों की सुरक्षा को लेकर कड़े इंतजाम करने के उद्देश्य से वसई तालुका के सातों पुलिस स्टेशनों में बैठक का आयोजन किया गया.

इस मामले को लेकर तुलिंज, नालासोपारा, वालीव, माणिकपुर, वसई पुलिस स्टेशनों में बैठक हुई. अपराध ना हो तथा व्यापारियों की सूचना के आदान- प्रदान  के लिए पुलिस ने मोबाइल दुकानदार व ज्वेलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक की.

कोरोना के दौर में घरफोड़ी व चोरी की घटनाएं बड़े पैमाने पर हुई हैं, व्यापारियों द्वारा दुकान के आंतरिक सुरक्षा को प्रथम तथा बाहरी सुरक्षा को दूसरे स्थान पर प्राथमिकता दी जाती है, जिसका अपराधियों को लाभ मिलता है. अपराधी लूट करने के बाद दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के हार्डडिस्क की तोड़फोड़ कर या उसे लेकर फरार हो जाते हैं, जिसके कारण पुलिस को घटना की जांच में काफी दिक्कतें आती है. वसई तालुका के मोबाइल व ज्वैलर्स दुकानदारों से बाहरी निगरानी के लिए सीसीटीवी कंट्रोल कक्ष निर्माण किए जाने की अपील पुलिस ने की है. दुकानदारों द्वारा संयुक्त रूप से सुरक्षा को प्राथमिकता दिए जाने से अपराध पर भी लगाम लग सकता है. इस बात की जानकारी पुलिस ने व्यापारियों को दी है.

मोबाइल व ज्वैलर्स दुकानदार को स्वचालित सायरन सिस्टम लगाने, सीसीटीवी कैमरे के हार्डडिक्स को गोपनीय स्थान पर लगाए जाने जैसी कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारी दी गई. तुलिंज पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डीएस पाटील ने अपराध रोकने के लिए सामान्य नागरिकों से सतर्क रहते हुए पुलिस को सहयोग करने की अपील की है.

वर्तमान में क्षेत्र की बढ़ती जनसंख्या के साथ ही अपराध में भी बढ़ोत्तरी हुई है. तालुका में अपराध को रोकने के लिए बीट मार्शल योजना, पुलिस मित्र संकल्पना चलाई जा रही है. वालीव पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक विजय चौगुले ने भी कहा कि पुलिस की मदद के लिए सामाजिक लोगों को भी खुलकर सामने आने की जरूरत है.

पुलिस बदमाशों की जानकारी के आधार पर अपना कार्य कर रही है. लेकिन जन बल तथा समय की कमी दोनों पुलिस के सामने खड़ी है. जिसे देखते हुए सामाजिक लोगों से आगे आकर पुलिस को सहयोग करने की अपील की गई. इस दौरान ज्वेलरी  व्यापारियों की सुरक्षा के मद्देनजर जिन उपायों को करने की जरूरत है, इसकी विस्तृत जानकारी दी गई.