Traffic police will knock on the houses of fine defaulters, 50 teams to recover 300 crores

    तारिक खान

    मुंबई. ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले से करीब 300 करोड़ रुपए बकाया राशि वसूली के लिए पुलिसकर्मियों की 50 टीमों का गठन किया गया है। एक टीम में दो ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल (Traffic Police Constable) होंगे और यह टीम उन वाहन मालिकों से मिलेगी जिनके नाम पर 5,000 रुपये से अधिक का जुर्माना (Fine) बकाया है। यदि आप ट्रैफिक उल्लंघनकर्ता हैं और आपके वाहन के खिलाफ जुर्माना बकाया है तो जल्द ही ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) बकाया जुर्माना राशि वसूलने के लिए आपके दरवाजे पर दस्तक दे सकती है।

    ट्रैफिक विभाग ने आरटीओ (RTO) की मदद से कई बार ट्रैफिक उल्लंघन करने वालों के लाइसेंस भी रद्द कर दिए। ट्रैफिक पुलिस ने आरटीओ को सूचित किया कि यदि वाहन के खिलाफ जुर्माना बकाया है तो उसकी बिक्री को मंजूरी नहीं दी जाए बावजूद जुर्माने की रकम भरने में कोई इजाफा नहीं हुआ।

    ई-चालान के लिए बना कॉल सेंटर  

    ई-चालान, जिसे 2016 में सिस्टम में पारदर्शिता लाने और मुंबईकरों से सिग्नल कूदने, तेज गति से गाड़ी चलाने और अवैध पार्किंग आदि ट्रैफिक नियम उल्लंघन के मामले के लिए बनाया गया था, जिन लोगों पर ऑनलाइन जुर्माना लगाया जाता, वह यातायात पुलिस विभाग में भुगतान नहीं करते थे। जुर्माना मुख्य रूप से मोबाइल एप्लिकेशन या ट्रैफिक पुलिस चौकी के माध्यम से ऑनलाइन एकत्र किया जाता है। उल्लंघन करने वालों को बार-बार याद दिलाने के बाद कि वे भुगतान नहीं करते थे, जिसके बाद ट्रैफिक विभाग ने दिसंबर 2020 में डिफॉल्टरों को कॉल करने और भुगतान करने का अनुरोध करने के लिए एक कॉल सेंटर शुरू किया। इस कॉल सेंटर से ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों ने उल्लंघनकर्ताओं से को बुलाकर उनसे जुर्माना वसूलने और नजदीक के यातायात विभाग में पैसे भरने की प्रक्रिया को समझाया।

    प्रतिदिन वसूल होते हैं लाखों रुपए

    मुंबई ट्रैफिक पुलिस के अनुसार, एक दिन में ट्रैफिक पुलिस ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों से करीब 5 लाख रुपए चालान वसूल करती है तो एक हफ्ते में करीब 35 लाख रुपए वसूल हुए हैं क्योंकि इस मुहिम को शुरू हुए एक हफ्ता ही हुआ है। गौरतलब है कि ट्रैफिक नियम उल्लंघन के मामले में 2019 में 102 करोड़ रुपए और 2020 में 122 करोड़ रुपए चालान बकाया था जो कि बढ़कर अब 2021 में करीब 300 करोड़ हो चुका है।जिनके पास जुर्माना भरने की राशि नहीं होती है उन्हें कुछ दिन की मोहलत भी दी जाती है।

    हमने ई-चालान बकाया जुर्माना वसूलने के लिए 50 टीमों का गठन मुंबई शहर में किया है।एक टीम में करीब दो ट्रैफिक पुलिस कॉन्स्टेबल हैं जो अपने शरीर पर कैमरा लगाकर ई-चालान मशीन और प्रिंटर के साथ पुलिस की वर्दी में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले के घर पर गाड़ी के रजिस्ट्रेशन नंबर की मदद से पहुंच कर उन्हें जुर्माने की रकम बताकर नोटिस देंगे और उनसे जुर्माना वसूल करेंगे। नोटिस देने के बावजूद अगर उल्लंघनकर्ता जुर्माना नहीं भरते हैं तो विभाग के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आगे की कार्रवाई का फैसला करेंगे।

    - यशस्वी यादव, संयुक्त पुलिस आयुक्त, मुंबई ट्रैफिक मुंबई

    ट्रैफिक विभाग मुख्य कार्यालय से ट्रैफिक नियम उल्लंघन के मामले में हमने 5 हजार नोटिस भेजा है। हमारे अंतर्गत क्षेत्र से जुर्माने की रकम वसूल करने के लिए मैंने तीन कॉन्स्टेबल सुतार,पिसे और गोले की टीम गठित की है।हमने 18 जून को 15 नोटिसों में से 12 नोटिसों से 1 लाख 11 हजार 500 रुपये पेंडिंग जुर्माना वसूल किया और 19 जून को 7 नोटिस से 86 हजार रुपए जुर्माने की रकम वसूल की गई और दोनों बार बोरीवली ट्रैफिक विभाग के बाद मानखुर्द दंड वसूलने में मुंबई के दूसरे क्रमांक पर रहा है।

    -किशोर शिंदे, सीनियर इंस्पेक्टर मानखुर्द ट्रैफिक पुलिस