Rape
प्रतीकात्मक तस्वीर

    नागपुर. अजनी थानांतर्गत 16 वर्षीय नाबालिग से गैंग रेप के मामले में पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. इनमें कैलाशनगर निवासी अमित लोखंडे (22), प्रशिक गोटे (25), दत्तु खाटक और बिट्टू वाघमारे का समावेश है. चारों आरोपियों का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड है. पुलिस ने देर रात ही आरोपियों को हिरासत में ले लिया था लेकिन पीड़िता पहले बार-बार बयान बदल रही थी जिससे केस दर्ज करने में समय लगा.

    पीड़िता की फ्रेंड का ब्वॉयफ्रेंड है अमित

    मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता राम कूलर चौक के आसपास रहती है, जबकि उसकी एक ममेरी बहन बाबुलखेड़ा में रहती है जो मूल रूप से भंडारा निवासी है. पीड़िता की ममेरी बहन कुछ दिनों से अपने माता-पिता से अलग होकर वसंतनगर में रह रही है जिसकी एक सहेली की पीड़िता से भी दोस्ती है.

    आरोपी अमित उनकी इस सहेली का ब्वॉयफ्रेंड है. जब पीड़िता अपनी ममेरी बहन से मिलने आती थी तो अमित की नजर उस पर पड़ी. मंगलवार शाम ममेरी बहन की सहेली पीड़िता को अपने साथ लेकर अमित से मिलने गई. इसके बाद दोनों अमित और प्रशीक के साथ न्यू कैलाशनगर में मिले. 

    चाकू की नोक पर किया गैंग रेप

    इसके बाद अमित दोनों लड़कियों को लेकर दत्तू के घर के पास एक रिश्तेदार के घर ले गया. कुछ देर बाद प्रशिक भी वहां पहुंचा और चाकू की नोक पर पीड़िता को एक कमरे ले लाकर दुष्कर्म किया. पीड़िता का आरोप है कि प्रशिक ने उसके कपड़े भी फाड़े. फिर अमित ने भी उसके साथ जबरदस्ती की.

    आरोपी इसके बाद भी शांत नहीं हुए और उन्होंने अपने 2 साथियों विशाल उर्फ दत्तू और विजय को भी फोन करके बुलाया. दोनों ने भी पीड़िता से दुष्कर्म किया और मोबाइल में अश्लील फोटो खींच लीं. आरोपियों ने पीड़िता को फिर चाकू दिखाकर जान से मारने की धमकी देकर किसी को कुछ बताने से मना किया.

    ममेरी बहन को दी जानकारी

    इसके बाद पीड़िता ने अपनी ममेरी बहन को घटना की सारी जानकारी दी. कुछ देर में वह और ममेरी बहन अजनी थाने पहुंचीं और शिकायत दर्ज कराई. नाबालिग से गैंग रेप की बात सुनकर थाने के पुलिसकर्मी सकते में आ गये और आनन-फानन में चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया. इनमें से दत्तु पहले ही रेप केस में जेल की सजा काट चुका है और हाल ही में रिहा होकर लौटा था.

    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ बाहरी लोगों ने पीड़िता पर शिकायत न करने का दबाव बनाने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं मानी और एफआईआर दर्ज कराई. एफआईआर दर्ज होते ही पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. जांच जारी है.