Deekshabhoomi

  • दीक्षाभूमी स्मारक समिति ने की भीड़ न करने की अपील

नागपुर. कोरोना के कारण डॉ. आंबेडकर स्मारक समिति ने इस वर्ष दीक्षाभूमि पर धम्मचक्र प्रवर्तन दिन निमित्त आयोजित होने वाली धम्म परिषद व मुख्य समारोह रद्द करने का निर्णय लिया है. समिति के सचिव डॉ. सुधीर फुलझेले ने पत्रकारों को बताया कि प्रतिवर्षानुसार धम्मचक्र प्रवर्तन दिन पर होने वाला पंचशील ध्वजारोहण व बुद्ध वंदना सादगी से होगी.

दीक्षाभूमि पर बौद्ध बांधवों से भीड़ न करने की अपील समिति ने की है. 14 व 25 अक्टूबर को धम्मचक्र प्रवर्तन समारोह घर पर ही मनाने का आह्वान किया गया है.

24 अक्टूबर को समिति के सदस्यों की उपस्थिति में पंचशील ध्वजारोहण व समता सैनिक दल द्वारा मानवंदना कार्यक्रम होगा. 25 अक्टूबर को सुबह 8.30 बजे भदंत आर्य नागार्जुन सुरई ससाई के गौतम बुद्ध व डा. आंबेडकर के पुतले पर माल्यार्पण कर बुद्ध वंदना व भीम वंदना ली जाएगी. सभी कार्यक्रमों का सीधा प्रक्षेपण आवाज इंडिया, यूसीएन व बुद्धा चैनल्स पर दिखाया जाएगा.

स्तूप पर रोशनाई नहीं
कोरोना का शिकार कई लोग तथा कोरोना योद्धा भी हुए हैं. उन्हें आदरांजलि देने इस वर्ष दीक्षाभूमि के स्तूप पर रोशनाई नहीं की जाएगी. पत्रपरिषद में समिति अध्यक्ष भदंत आर्य नागार्जुन सुरई ससाई, विलास गजघाटे व एन. आर. सुटे उपस्थित थे.