Municiple Commissioner

    नागपुर. कोरोना के लगातार बढ़ते दुष्प्रभाव के चलते मनपा प्रशासन ने 15 से 21 मार्च तक लॉकडाउन की घोषणा की है. पहले ही दिन इसका पालन सुनिश्चित करने के लिए मनपा आयुक्त राधाकृष्णन बी. सहयोगी अधिकारियों के साथ सड़कों पर उतरे. लॉकडाउन का पालन कराने के उद्देश्य से अत्यावश्यक कार्यों का बहाना कर वाहनों पर घूम रहे लोगों से इसके दस्तावेजी सबूत भी मांगे. अति. आयुक्त राम जोशी और पुलिस अधिकारी भी उपस्थित थे.

    उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण टालने के लिए कड़ी शर्तों के साथ ही बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलने तथा अत्यावश्यक होने पर ही बाहर निकलने के निर्देश मनपा आयुक्त ने जारी किए हैं. इसके बावजूद सड़कों पर भारी मात्रा में दुपहिया और चारपहिया वाहन दिखाई दिए. कई चौराहों पर मनपा आयुक्त ने वाहनों को रोककर चालकों से पूछताछ की.

    बहानेबाजों पर कार्रवाई के निर्देश

    जांच-पड़ताल के दौरान कई वाहन चालकों ने अत्यावश्यक होने के दस्तावेजी सबूत तो पेश किए  किंतु कई ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया. बहानेबाजी करते दिखाई देने पर मनपा आयुक्त ने इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश भी पुलिस को जारी किए. मनपा आयुक्त ने सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करने की अपील जनता से की. 

    मनपा की कैन्टीन शुरू

    मनपा आयुक्त की ओर से लॉकडाउन को लेकर जारी किए गए निर्देशों में होटल आदि को बंद रखने की हिदायत दी गई. होटल से केवल ऑनलाइन पद्धति से बिक्री की छूट प्रदान की गई. सोमवार को कई इलाकों में छिपकर चाय और नाश्ते की दूकान शुरू रहीं, जबकि कार्रवाई के भय से कई मुख्य मार्गों की ऐसी दूकान पूरी तरह बंद रहीं. पहले ही दिन प्रशासन की मुस्तैदी के चलते कई दूकानें तो बंद रहीं लेकिन मनपा मुख्यालय के परिसर में स्थित कैन्टीन शुरू रही जहां न केवल चाय बल्कि नाश्ता भी मुहैया कराया गया. 

    छात्रों के साथ दुपहिया पर जा सकेंगे पालक

    10वीं और 12वीं की परीक्षा को देखते हुए कई छात्र लाइब्रेरी और अध्ययन कक्ष जाते हैं. इसके अलावा परीक्षा की तैयारियों के लिए उन्हें कई जगह पर पालकों के साथ जाना पड़ता है. किंतु लॉकडाउन में पुलिस विभाग की ओर से दुपहिया वाहन पर डबल सीट जाने पर पाबंदी लगाई गई है जिससे पुलिस आयुक्त से इस संदर्भ में चर्चा की गई. इसमें सकारात्मक निर्णय लेकर अब पालकों को छात्रों के साथ दुपहिया वाहनों पर जाने की छूट होगी. लॉकडाउन भले ही जनता के हितों का न हो, लेकिन सरकार के नियमों और दिशानिर्देशों का पालन करना सभी का कर्तव्य है. इसका पालन नहीं होने के कारण ही लॉकडाउन की स्थिति उत्पन्न होती है. अत: सोशल डिस्टेन्सिंग और मास्क के उपयोग का पालन किया जाना चाहिए.

    -दयाशंकर तिवारी, महापौर.