board exams
File Photo

    नागपुर. महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा इस बार बिना परीक्षा लिए 10वीं का परिणाम अंतर्गत मूल्यमापन के आधार पर घोषित किया गया. हालांकि केवल वे ही छात्र अनुत्तीर्ण हुये हैं, जिन्होंने परीक्षा आवेदन नहीं भरा था. लेकिन कुही तहसील के एक स्कूल में एक छात्र की अंक सूची पूरी कोरी निकली. इसमें विषयों के साथ ही अंक भी गायब है. परिणाम देखने के बाद से छात्रा का रो-रोकर बुरा हाल है. साथ में पढ़ने वाली सभी सहेलियां उत्तीर्ण होने से और उसका रिजल्ट ब्लैंक आने से परिजन सहित शिक्षक भी हैरत में हैं.

    माना जा रहा है कि बोर्ड की लापरवाही की वजह से ऐसा हुआ है. शुक्रवार को 10वीं बोर्ड का परिणाम दोपहर 1 बजे घोषित किया जाना था, लेकिन छात्र दिनभर परेशान होते रहे. करीब 6 घंटे तक वेबसाइट पर परिणाम दिखाई ही नहीं दिया. बताया गया कि वेबसाइट क्रैश होने की वजह से परिणाम दिखाई नहीं दिये. शाम 6 बजे के बाद परिणाम दिखने लगे, लेकिन सर्वर की गति धीमी होने से यह सिलसिला रातभर जारी रहा. छात्र शिक्षकों से फोन पर संपर्क करते रहे, लेकिन शिक्षक भी कोई जवाब देने में असमर्थ थे. 

    तकनीकी गड़बड़ी हुई 

    कुही तहसील के आदर्श जीवन विद्यालय रुयाड़ में पढ़ने वाली वैष्णवी के साथ ही कुछ अलग ही हुआ. वैष्णवी ने जब अपनी अंकसूची वेबसाइट पर देखी तो उसे यकीन ही नहीं हुआ. दरअसल, अंकसूची में विषय और अंक ही गायब थे. अंक सूची पूरी तरह तरह कोरी थी. उसका नाम जरूर था कि लेकिन अंक और प्रतिशत ही नहीं थे. छात्रा ने स्कूल से संपर्क किया तो उसे बोर्ड की गड़बड़ी होने की जानकारी दी गई. वैसे इस तरह की अनोखी घटना पहली ही बार देखने को मिली है. अब तक अंकसूची में नाम, नंबर और अन्य गड़बड़ी देखी जाती रही है लेकिन पूरी की पूरी अंक सूची ही कोरी होने की पहली ही घटना बताई जा रही है. 

    परिजन, शिक्षक भी हैरत में 

    इस संबंध में बोर्ड के अधिकारियों का कहना हैं कि तकनीकी गड़बड़ की वजह से ऐसा हुआ होगा. बोर्ड में आवेदन करने पर सुधार हो जाएगा. लेकिन छात्रा का रिजल्ट देखने के बाद से बुरा हाल है. उसे लग रहा है कि उसकी सभी सहेलियां उत्तीर्ण हो गई और वह ही अनुत्तीर्ण हो गई. हालांकि परिजनों सहित शिक्षकों ने भी उसे समझाया. स्कूल की ओर से भी बोर्ड को अवगत कराया गया है. बताया जा रहा है कि कई छात्रों के रिजल्ट अब भी वेबसाइट पर नहीं दिखाई दे रहे हैं. वहीं कुछ छात्रों के रिजल्ट विदहेल्ड बताए जा रहे है.