mayor dayashankar tiwari

  • महापौर, उपमहापौर और आयुक्त ने किया अभिवादन

नागपुर. स्वामी विवेकानंद के विचार सम्पूर्ण देश के लिए आदर्श है. 18वीं सदी में उनके द्वारा रखा गया तत्वज्ञान आज भी 21वीं सदी के लिए मार्गदर्शक साबित हो रहा है. शिक्षा, अध्यात्म जैसे विषयों पर मानव जीवन में आवश्यक एवं मानव कल्याण के लिए उन्होंने जीवनभर कार्य किया. वर्तमान में शाश्वत विकास के लिए सभी ओर कार्य चल रहे हैं. किंतु 18वीं सदी की प्रकृति से ही शाश्वत विकास साधा जा सकता है, यह संकल्पना स्वामी विवेकानंद ने रखी है.

विश्व को जीने की नई दिशा देने का महत्वपूर्ण कार्य प्रत्येक के लिए मार्गदर्शक साबित हो रहा है. उक्त आश्य के विचार महापौर दयाशंकर तिवारी ने व्यक्त किए. स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर मंगलवार को महापौर दयाशंकर तिवारी, उपमहापौर मनीषा धावडे, मनपा आयुक्त राधाकृष्ण.बी ने अंबाझरी स्थित स्मारक जाकर अभिवादन किया. विधायक विकास ठाकरे, परिणीता फुके, प्रकाश वराडे, अनिल गेडाम, नरेश गावंडे आदि उपस्थित थे.

शुरू करें स्क्रीन 

महापौर दयाशंकर तिवारी ने कहा कि स्मारक के सभागृह में स्वामी विवेकानंद के बचपन से लेकर मृत्यु तक के जीवन प्रसंग को दर्शाने वाले म्यूरल लगाए गए हैं. इसके अलावा उनके जीवन चरित्र को उजागर करने के लिए टीवी स्क्रीन भी लगाए गए हैं. किंतु लोगों और छात्रों के लिए अब तक उन्हें शुरू नहीं किया गया. प्रशासकीय स्तर पर आ रही समस्याओं का निवारण कर स्क्रीन शुरू करने पर स्वामी विवेकानंद सहित कई महापुरूषों के जीवन चरित्र की जानकारी लोगों को मिल सकेगी.

अत: स्क्रीन शुरू करने की सूचना आयुक्त को दी. मनपा आयुक्त राधाकृष्णन.बी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद देश के प्रत्येक के लिए आदर्श व्यक्तित्व है. उनके कार्यों को सभी तक पहुंचाने के लिए मनपा द्वारा स्मारक तैयार किया गया है. स्मारक स्थल पर आनेवाले लोगों को उनके जीवन चरित्र की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए सभागृह सामान्य लोगों के लिए शुरू करने की सकारात्मक पहल करने की जानकारी आयुक्त ने दी.