MLA Krishna Khopde

  • खोपड़े ने उठाया सवाल

नागपुर. राज्य की महिला व बाल विकास मंत्री यशोमति ठाकुर ने अपने ड्युटी पर तैनात एक पुलिस कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार किया जिसके चलते न्यायालय ने उन्हें 3 महीने कैद की सजा सुनाई. भाजपा विधायक कृष्णा खोपड़े ने कहा है कि एक मंत्री पद पर बैठीं ठाकुर ने पुलिसकर्मी के साथ जो व्यवहार किया वह पद की गरिमा के खिलाफ है. अब जब न्यायालय ने उन्हें सजा दी है तो नैतिकता के आधार पर उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

उन्होंने तंज कसा कि क्या वे इस्तीफा देने के लिए सीएम उद्धव, सोनिया या शरद पवार के आदेश का इंतजार कर रही हैं. उन्होंने मंत्री पद स्वीकारते समय कानून की रक्षा की शपथ ली थी लेकिन उस शपथ की अवमानना की है जिसका मतलब संविधान का अपमान भी है. उन्हें पद पर बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है.