Chandrashekhar Bawankule

    नाशिक. ओबीसी (OBC)को आरक्षण (Reservation) ना मिले इसके लिए महा विकास आघाडी के झारी के शुक्राचार्य अडचन पैदा कर रहे हैं। ऐसा आरोप भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के प्रदेश सचिव (State Secretary) और भाजयुमो (भारतीय जनता युवा मोर्चा) (Bharatiya Janata Yuva Morcha) के प्रभारी चंद्रशेखर बावनकुळे (Chandrashekhar Bawankule) ने सरकार पर लगया है।

    भाजपा के सचिव और भाजयुमो के प्रभारी चंद्रशेखर बावनकुळे साथ ही भाजयुमो की प्रदेशाध्यक्ष पाटील, दोनों उत्तर महाराष्ट्र के दौरे पर हैं, इस दौरे की शुरुआत मंगलवार को नाशिक से की गई। नेताओं का नाशिक में आगमन होने के बाद भाजपा प्रवक्ता लक्ष्मण सावजी, विधायक देवयानी फरांदे, शहराध्यक्ष गिरीश पालवे, गोविंद बोरसे, बजाज विमा के जिल्हाध्यक्ष मनिष बागुल, पवन भगुरकर प्रशांत जाधव, आदि  के साथ  अन्य नेताओं ने उन का स्वागत किया। उस समय वह पत्रकारों से बात कर रहे थे। विकास आघाडी को 22 दिसंबर तक किसी भी परिस्थिती में ओबीसी को आरक्षण नहीं देना है इसके लिए इतना विलंब किया जा रहा है, एैसा कहते हुए उन्होंने कहा कि यदि आरक्षण नहीं मिला तो हम चुनाव नहीं होने देंगे।

    कोई ना कोई शुक्राचार्य है

    छगन भुजबल मोर्चे निकाल रहे हैं लेकिन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सरकार बनाने वाले शरद पवार क्यों नहीं बोल रहे हैं, एैसा प्रश्न खड़ा करके बावनकुळे ने कहा कि इनमें से कोई ना कोई शुक्राचार्य है, वह कौन है यह कहने के लिए किसी प्रवक्ता की जरुरत नहीं है। शरद पवार और बाळासाहब ठाकरे के कारण ही ओबीसी को आरक्षण नहीं मिल रहा है। ऐसा आरोप लगाते हुए बावनकुळे ने कहा की केवल ओबीसी आयोग तयार किया गया है लेकिन उनका कामकाज शुरु करने नहीं दिया जा रहा है।  इसके लिए कौन जिम्मेदार है, इसमें केंद्र सरकार का किसी प्रकार का संबंध नहीं है एैसा बावनकुळे ने कहा। पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण के काल में जो नीती तैयार की गई वह गलत है। उस गलती से अनेक गलतियां हो रही हैं, बावनकुळे ने कहा। साथ ही भी कहा की राज्य में सब से अधिक ओबीसी नेताओं को भाजपा ने प्रतिनिधित्व दिया है। जहां  आज पंकजा मुंडे उनके अपने पूर्वनियोजित कार्यक्रम के कारण नहीं आ सकी है लेकिन आने वाले दिनों में वह जरुर नाशिक आऐंगी।