मनमाड में कांग्रेस ने निकाला मोर्चा

ईंधनों की दरों में वृद्धि से आम जनता हुई बेहाल

केंद्र के खिलाफ जोरदार नारेबाजी

मनमाड. विगत कुछ दिनों से पेट्रोल और डीजल के दामों में प्रति दिन वृद्धि  हो रही है. देश में पहली बार डीजल पेट्रोल से भी महंगा हो गया है. इसके लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है, ऐसा आरोप लगाते हुए मनमाड शहर में कांग्रेस ने आक्रामक रूप अपनाते हुए मोर्चा निकाला.इस अवसर पर धरना प्रदर्शन करते हुए संतप्त कार्यकर्ताओं द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गयी.मंडल अधिकारी को ज्ञापन देकर बढ़ी हुई ईंधन की कीमतों को वापस लिए जाने की मांग की गयी.  

कांग्रेस के तालुका अध्यक्ष समाधान पाटील, शहराध्यक्ष हाजी अफजल शेख के नेतृत्व में कांग्रेस भवन से मोर्चा निकाला गया. यह मोर्चा शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए एकात्मता चौक में आने के बाद प्रदर्शन में बदल गया. संतप्त कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की. इस अवसर पर मंडल अधिकारी कैलाश चौधरी को एक ज्ञापन दिया गया. उसमें कहा गया है कि विगत 18 दिनों से रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि हो रही है.

पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल

इस समय देश में पेट्रोल से ज्यादा दाम डीजल के हो गये हैं जिसके कारण महंगाई बढ़ती जा रही है.उसका असर सीधे आम जनता और किसानों पर हो रहा है.ज्ञापन में ईंधन की बढ़ी हुयी कीमतें अविलंब वापस लिए जाने की मांग की गयी है.इस आंदोलन में नगरसेवक मिलिंद उबाले, संजय निकम, नाजीम शेख, पूर्व नगराध्यक्ष रहमान शहा समेत सुनील गवांदे, बालासाहेब सालुंके, बालासाहेब मिसर,दर्शन आहेर, भीमराव जेजुरे, हिरामण कुसमाडे, सईद शेख, अन्सार शहा, अशोक सानप, फकीरा शिवदे, चेतन पाटिल, प्रभाकर पवार, बद्रू मिस्त्री, फिरोज शेख, फातेमा शहा, इलियास पठान समेत अन्य पदधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल हुए थे.