corona

    नाशिक. पिछले कुछ दिनों से कोरोना मुक्त (Corona Free) होने वाले पेठ तहसील (Peth Tehsil) में एक बार फिर संक्रमित (Infected) सामने आ रहे है। इसके चलते जिले में अब एक भी तहसील कोरोना मुक्त न होने की बात स्पष्ट हो गई है। पेठ को करोना मुक्त होने का आनंद अधिक समय तक नहीं मिल पाया। जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण (Under Control) है, लेकिन आज भी 150 से 200 संक्रमित हर दिन सामने आ रहे है, जिसे कम करने के साथ पॉजिटिविटी दर नियंत्रित करने के लिए स्वास्थ्य यंत्रणा हर संभव प्रयास कर रही है।

    अधिक से अधिक संभावित मरीजों तक पहुंचकर कोरोना का टेस्ट करने का काम हर तहसील में शुरू है। परिणामस्वरूप जिले में कोरोना पीड़ितों की संख्या नियंत्रित हो रही है। जिले के 15 तहसील में से पेठ तहसील में अब तक सबसे कम कोरोना संक्रमित सामने आए।  ग्रामीण क्षेत्र के 1 लाख 50 हजार 482 मरीज में से मात्र 959 मरीज पेठ तहसील के है। 3 जुलाई को पेठ तहसील कोरोना मुक्त हुआ था।  तहसील में एक भी सक्रिय मरीज उपचार न लेने की जानकारी स्वास्थ्य यंत्रणा ने दी थी।

    कोरोना मुक्ति की ओर बढ़ रहा है त्र्यंबकेश्वर-सुरगाणा

    3 जुलाई के बाद केवल तीन दिनों में एक बार फिर पेठ तहसील में तीन मरीज सामने आए। तीनों मरीज शिक्षक होने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी।  आज की स्थिति में पेठ और त्र्यंबकेश्वर में तीन सक्रिय मरीज है, तो सुरगाणा में केवल एक ही मरीज है। परिणामस्वरूप सुरगाणा और त्र्यंबकेश्वर यह दो तहसील कोरोना मुक्ति की ओर बढ़ रहे है।