COVISHIELD

    नाशिक. शहर में एक ओर कोरोना (Corona) संक्रमण बढ़ रहा है तो दूसरी ओर पिछले एक माह से कोरोना प्रतिबंधक टीकाकरण के लिए केंद्र सरकार (Central Government) से प्राप्त हुई 50 हजार 700 कोविशील्ड (Covishield ) की डोस खत्म हो गई है। परिणामस्वरूप नागरिकों को स्वास्थ्य केंद्रों से बगैर टीका लगवाए वापस जाना पड़ रहा है। टीकाकरण केंद्र पर हो रही नागरिकों की भीड़ को देखते हुए मनपा ने 1 लाख 50 हजार कोविशील्ड डोस की मांग पुणे स्थित उपसंचालक कार्यालय से की है। यह जानकारी मनपा के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बापूसाहेब नागरगोजे ने दी। 

    नाशिक में कोरोना संक्रमण दिन-ब-दिन बढ़ रहा है। तीन दिनों से हर दिन कोरोना पीड़ितों की संख्या एक हजार से आगे जा रही है। इसलिए संबंधित प्रशासन कोरोना नियंत्रण के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है। कोरोना पर प्रभावी साबित हुई कोविशील्ड टीका आने से नागरिकों का डर खत्म हो गया था। मनपा ने शहर में पिछले माह से कोरोना का टीकाकरण शुरू किया है, फिर भी कोरोना मरीजों की संख्या कम नहीं हो रही है। 

    मनपा ने की 1 लाख 50 हजार और कोविशील्ड की मांग 

    कोविशील्ड टीका सभी को देने का नियोजन है। शुरुआत में स्वास्थ्य सेवक, डॉक्टर, फ्रंटलाइन पर काम करने वाले कर्मचारी, सरकारी कर्मचारी आदि को टीका लगवाया गया। इसके बाद वरिष्ठ नागरिकों के साथ 45 वर्ष से अधिक उम्र के मरीजों को प्राथमिकता दी जा रही है। इसके लिए सरकार के एप में अपनी जानकारी देना बंधनकारक है। मनपा अस्पताल, स्वास्थ्य केंद्र के साथ निजी अस्पतालों में भी टीका लगाया जा रहा है। मनपा को 50 हजार 700 कोविशील्ड का डोस मिला था। मनपा द्वारा स्वास्थ्य केंद्र पर कोविशील्ड डोस उपलब्ध कराने के बाद नगरसेवकों ने इसका अपने मतदाताओं को आकर्षित करने के लिए उपयोग किया। प्रभाग में वरिष्ठ नागरिकों को बुलाकर टीका लगाया गया।