dogs left in municipal office

    शिर्डी. शिवसेना नेता (Shiv Sena leader) कमलाकर कोटे ने शिर्डी नगर पंचायत कार्यालय (Shirdi Nagar Panchayat Office) में आवारा कुत्तों (Dogs) को छोड़कर समस्या की ओर ध्यान आकर्षित कराने की कोशिश की। शिर्डी नगर पंचायत पर शहर में आवारा कुत्तों की देखभाल करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए कोटे ने नागरिकों से अपील की कि वे अपने क्षेत्र के आवारा कुत्तों, बिल्लियों को नगर पंचायत में लाएं और उन्हें वहां छोड़ दें। इसके लिए उन्होंने इनाम योजना की घोषणा भी की है। 

    इस संबंध में कोटे ने कहा कि शहर और उपनगरों में आवारा कुत्तों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। इन कुत्तों ने कई नागरिकों को काट लिया है। सत्तारूढ़ पार्टी और नगर पंचायत प्रमुख जो नागरिकों से भारी कर एकत्र करते हैं, पूरी तरह से विफल रहे हैं। इसलिए आवारा कुत्तों को नगर पंचायत में लाया गया है। यदि नगर पंचायत इस संबंध में तत्काल कार्रवाई नहीं करता है, तो नागरिकों को अपने क्षेत्र से कुत्तों को नगर पंचायत कार्यालय में लाना चाहिए और उन्हें रिहा कर कार्यालय में छोड़ देना चाहिए। 

    इनाम की भी घोषणा

    इसके लिए हमने एक व्यक्तिगत इनाम की भी घोषणा की है। इसके अनुसार, छोटे पिल्ले के दस रुपए, बिल्ली के दस रुपए, बड़े कुत्ते के पचास रुपए और सुअर के लिए सौ रुपए का इनाम दिया जाएगा।

    कुत्तों को पकड़ने में कानूनी कठिनाइयां हैं। हालांकि, हम नियमों का पालन करके आवारा कुत्तों की देखभाल करने की कोशिश करेंगे।

    - काकासाहेब डोईफोडे, मुख्य अधिकारी, नगर पंचायत