Farmers will get loans immediately, Chhagan Bhujbal announced

    नाशिक. कोरोना महामारी (corona Pandemic) के मद्देनज़र सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं कि किसानों (Farmers) को उनकी कृषि गतिविधियों में कोई कठिनाई न हो। इसी क्रम में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री एवं जिले के पालक मंत्री छगन भुजबल (Guardian Minister Chhagan Bhujbal) ने कहा कि जो किसान अपने ऋण की किस्तें एवं ऋण नियमित रूप से चुका रहे हैं, उन्हें खरीफ सीजन के लिए बैंक (‍Bank) तत्काल ऋण (Loan) उपलब्ध कराएंगे। जिलाधिकारी कार्यालय के केन्द्रीय कक्ष में फसल ऋण पर हुई समीक्षा बैठक में पालक मंत्री भुजबल ने उक्त बातें कही।

     बैठक में डीएम सूरज मांढरे, सहकारी समितियों के संभागीय सह पंजीयक ज्योति लातकर, जिला उप पंजीयक सतीश खरे, जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के मुख्य प्रशासक मोहम्मद आरिफ, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक अर्धेंद्र शेखर सहित सहकारी समितियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

     2 माह में वितरित किए गए 445 करोड़

    पालक मंत्री भुजबल ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी के लिए मिले पैसे का इस्तेमाल सिर्फ कर्ज माफी के लिए किया जाए। साथ ही सहकारी समितियों द्वारा लिए गए ऋण की राशि की वसूली के लिए किसानों को अपनी भूमि की नीलामी करने के लिए वर्तमान वातावरण अनुकूल नहीं है। जिन किसानों ने अपना ऋण समय पर चुका दिया है और नया ऋण लेना चाहते हैं, उन्हें नया ऋण प्राप्त करने के लिए बैंक से आवश्यक दस्तावेज और प्रमाण पत्र समय पर उपलब्ध कराए जाने चाहिए। इसी तरह पालक मंत्री ने भी कलेक्टर के मार्गदर्शन में उचित योजना बनाने के निर्देश दिए ताकि किसानों को ऋण की समय पर और सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके। 2021-22 में 2700 करोड़ रुपये के वितरण के लक्ष्य में से 445 करोड़ रुपये 2 महीने में वितरित किए जा चुके हैं। बैठक में जिला कलेक्टर सूरज मांढरे ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी अधिकतम ऋण का वितरण किया जायेगा।