Use of substandard material in road repair, investigation started

    सातपुर. नाशिक महानगरपालिका (Nashik Municipal Corporation) द्वारा सातपुर (Satpur) विभाग में सड़क मरम्मत (Road Repair) का कार्य चल रहा है जिसकी गुणवत्ता खराब होने से नागरिक अधिकारी-ठेकेदार के आर्थिक संबंध जिम्मेदार होने का आरोप लगा रहे हैं। महानगरपालिका के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश खाडे ने दौरा कर कामकाज का जायजा लेते हुए जांच शुरू की। नाशिक मनपा द्वारा सातपुर विभाग के प्रभाग क्रमांक 9, 10 व 26 में मेसर्स सोनजे एसोसिएट फर्म (M/s Sonje Associate Firm) के माध्यम से सड़क मरम्मत का कामकाज शुरू है।

    इस कार्य को गुणवत्ताहीन, घटिया होने का आरोप लगाते हुए स्थानीय नागरिक गणेश मेहेत्रे व कमलाकर ने मुख्यमंत्री सहित लोक निर्माण, पालक मंत्री, जिलाधिकारी के पास शिकायत की है। मामले को गंभीरता से लेते हुए महानगरपालिका के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश खाड़े ने मौके पर पहुंचकर कामकाज का जायजा दिया।

    मुख्य कार्यालय में तलब हुए जिम्मेदार

    सड़क मरम्मत में 14 इंच खड़ी के बजाए कुछ जगह पर 6-8 इंच खड़ी बिछाने की बात सामने आई। साईड पट्टी की जांच करने के बाद पता चला कि पहले पत्थर और उसके नीचे मुरूम आवश्यक था, लेकिन काली मिट्टी डाली गई। अतिरिक्त आयुक्त सुरेश खाड़े के सामने मेसर्स सोनजे एसोसिएट के संचालक प्रशांत सोनजे और शिकायतकर्ता कमलाकर के बीच विवाद हुआ। अतिरिक्त आयुक्त ने हस्तक्षेप करने के बाद विवाद खत्म हुआ। अतिरिक्त आयुक्त खाडे ने अधिकारी और ठेकेदार के कामकाज को लेकर नाराजगी व्यक्त कर उन्हें मुख्य कार्यालय में बुलाया। इस दौरान कार्यकारी अभियंता राजेंद्र पाटिल, सातपुर मनपा निर्माण विभाग के उप अभियंता डी. एस. कोल्हे, शाखा अभियंता संजय घोलप, मेसर्स सोनजे एसोसिएट के संचालक प्रशांत सोनजे, शिकायतकर्ता कमलाकर ह्यालीज, गणेश मेहेत्रे आदि उपस्थित रहे।