nishanebaaz-Rajinikanth's style has become a mess due to the fever of politics in the country

पड़ोसी ने हमसे कहा, ‘‘निशानेबाज, दक्षिण भारत के सुपरस्टार रजनीकांत पर राजनीति का बुखार चढ़ गया है.

पड़ोसी ने हमसे कहा, ‘‘निशानेबाज, दक्षिण भारत के सुपरस्टार रजनीकांत पर राजनीति का बुखार चढ़ गया है. नए साल में वे अपनी नई पार्टी लांच कर देंगे और तमिलनाडु में अपना जादुई असर दिखाएंगे. उन्होंने कहा भी है कि अभी नहीं तो कभी नहीं! रजनीकांत ने कितनी ही तमिल फिल्मों के अलावा हिंदी फिल्मों में भी प्रभावशाली भूमिका निभाई है. अब आप राजनीति में उनका प्रभाव देखिएगा.’’ हमने कहा, ‘‘फिल्मों में अभिनय की बात अलग है. कितने ही फिल्मी चेहरे राजनीति में फेल हो जाते हैं. वे सिर्फ डायरेक्टर के निर्देश पर रेडी, कैमरा एंड एक्शन की भाषा समझते हैं. रटे हुए डायलॉग बोलते हैं या गीतों पर होंठ हिलाते हैं. हिंदी फिल्मों के कितने ही सितारे संसद में जाकर चुप बैठ गए. राजनीति उनके बस की बात नहीं है.’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘निशानेबाज, दक्षिण भारत में फिल्म और राजनीति दूध-पानी की तरह मिले हुए हैं. वहां एक्टर को लीडर या चीफ मिनिस्टर बनते देर नहीं लगती. वहां के लोकप्रिय कलाकार एमजी रामचंद्रन और फिर जयललिता को दीर्घकाल तक मुख्यमंत्री बनने का मौका मिला. अब उनके न रहने से जो शून्य उत्पन्न हुआ है, उसका रजनीकांत फायदा उठा सकते हैं. जनता ‘थलाइवा’ के प्रति दीवानी है. तमिलनाडु में फिल्मी सितारों के 30-40 फुट ऊंचे कटआउट लगाए जाते हैं और उनके चहेते उन्हें भगवान की तरह पूजते हैं.’’ हमने कहा, ‘‘अभी तो रजनीकांत की पार्टी का जन्म ही नहीं हुआ लेकिन आप इतनी जल्दी उम्मीदें बांधने लगे? राजनीति की धारा विचित्र है जो पार भी करा सकती है और भंवर में डुबो भी सकती है. तमिलनाडु में डीएमके और एआईएडीएमके बहुत पुरानी पार्टियां हैं. रजनीकांत की नई पार्टी को जमने में टाइम लगेगा.’’ पड़ोसी ने कहा, ‘‘कोई टाइम नहीं लगेगा निशानेबाज! आपने जूलियस सीजर के बारे में पढ़ा होगा- ही वेंट, ही सॉ, ही कांकर्ड (वह गया, उसने देखा और जीत गया) रजनीकांत भी ऐसा ही करिश्मा दिखाएंगे. उनकी स्टाइल बहुत धुंआधार है. वे हवा में सिगरेट उछालकर मुंह में दबा लेते हैं. किसी गंजे के सिर पर माचिस की तीली रगड़कर उससे सिगरेट सुलगा लेते हैं. उनके मारधाड़ के दृश्य या फाइट सीन भी बड़े अनोखे और विस्मय में डालने वाले होते हैं. जब वे नेता के रूप में उभरेंगे तो तमिलनाडु की राजनीति में तूफान लाएंगे. राज्य में उनके चहेतों की भरमार है. इलेक्शन में उनकी पार्टी मुख्यमंत्री पलानी स्वामी को पानी पिला देगी. 2 वर्ष पहले उनके 50,000 चाहने वालों का फैन क्लब था जो अब और भी बढ़ गया होगा.’’ हमने कहा, ‘‘ढाई घंटे की फिल्म का एक्शन देखकर आप प्रभावित हो गए हैं. यदि ऐसा ही कमाल रजनीकांत राजनीति में दिखाएंगे तो हम मान जाएंगे.’’