A man arrested for killing elder brother in Thane

श्रीनगर: घाटी में भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के कार्यकर्ताओं की हत्या का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार को आतंकवादियों ने तीन भाजपा कार्यकर्ताओं को गोली मार दी. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. मारे गए कार्यकर्ताओं का नाम फ़िदा हुसैन याटू, उमर रशीद बेघ और उमर रमज़ान हजाम है.

मिली जानकरी के अनुसार कश्मीर के कुलगाम क्षेत्र के वाईके पोरा में भारतीय जनता युवा मोर्चा के महासचिव फ़िदा हुसैन याटू अपने दो और साथी उमर रशीद बेघ और उमर रमज़ान हजाम के साथ पर अपनी गाड़ी से घर जा रहे थे. जहां पहले से ही घात लगाए आतकवादियों ने ताबड़तोड़ गोलीबारी कर वहां से भाग गए. जिसके बाद तीनों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

क्षेत्र की घेराबंदी कर खोज शुरू 

हमले को लेकर जम्मू और कश्मीर पुलिस ने कहा, “पुलिस ने इस संबंध में कानून की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. एक जांच जारी है. इस क्षेत्र की घेराबंदी कर दी गई है और इस क्षेत्र में खोज जारी है.” पुलिस के साथ सेना ने भी सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है.

नेताओं के हत्या का सिलसिला जारी 

अनुच्छेद 370 हटने के बाद से भाजपा नेताओं पर हमले का सिलसिला शुरू है. पिछले एक साल में कई भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को आतंकवादियों ने हत्या कर दी है. जिसके वजह से घाटी में कार्यकर्ताओं में भय और दहशत में हैं. छह अक्टूबर को मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के नुनार इलाके में आतंकवादियों ने भाजपा के जिला उपाध्यक्ष गुलाम कादिर राथर के घर पर हमला किया था. जिसमें उनकी मृत्यु हो गई थी. इस दौरान उनके साथ तैनात पीएसओ ने तत्काल जवाबी फायरिंग की जिसमें अज्ञात आतंकी मारा गया. 

उमर अब्दुल्ला ने हमले की निंदा 

भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या पर निंदा करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, “दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले से भयानक खबर. मैं आतंकी हमले में 3 भाजपा कार्यकर्ताओं की लक्षित हत्या की निंदा करता हूं. अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे और इस मुश्किल के समय में उनके परिवार को ताकत मिले.”