siddhu

    नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) ने शुरू लड़ाई अब ख़त्म होने के कगार पर पहुंच चुकी है। कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amrindar Singh) और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjoot Singh Sidhu) के बीच खिची तलवार अपने मयान में जा चुकी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सिद्धू का पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनना लगभग तय हो गया है। जिसकी घोषणा शनिवार शाम तक की जा सकती है। 

    10 जनपथ के सूत्रों के अनुसार, पंजाब कांग्रेस में जारी संकट जल्द सुलझने वाला है। आज शाम तक नवजोत सिंह सिद्धू होंगे पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष के तौर पर उनके नाम का ऐलान हो जाएगा। उनके साथ 4 कार्यकारी अध्यक्षों के नाम का भी ऐलान किया जाएगा।

    https://twitter.com/ANI/status/1416334838974480392 

    रावत ने की अमरिंदर सिंह से मुलाकात

    इसके पहले पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से मुलाकात की। मोहाली स्थित अमरिंदर के फार्म हाउस पर दोनों नेताओं की बैठक हुई, इस बैठक में दोनों नेताओं के अलावा और कोई अन्य मौजूद नहीं था। वहीं बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि, प्रदेश प्रभारी के साथ बहुत सार्थक बात हुई।” 

    वहीं कर्ष रावत ने कहा, “मैं, कैप्टन अमरिंदर जी से मिलकर अभी-अभी दिल्ली लौटा हूंँ। मुझे प्रसन्नता है कि बहुत सारी बातें जो बाहर चर्चा में हैं, वो बिल्कुल निर्मूल साबित हुई हैं और कैप्टन साहब ने फिर से अपने उस महत्वपूर्ण बयान को दोहराया है।”

    उन्होंने कहा, “जिसमें उन्होंने कहा है कि माननीया कांग्रेस #अध्यक्ष, पंजाब के विषय में अध्यक्ष के पद को लेकर के जो भी निर्णय करेंगी वो निर्णय मुझे स्वीकार्य होगा, मैं उसका आदर करूंगा।”  

    सिद्धू ने की सुनील जाखड़ से मुलाकात 

    पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने ख़बर के बीच सिद्धू ने मौजूद कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ से पंचकूला में जाकर मुलाकात की है। जाखड़ से मिलने के बाद सिद्धू ने चंडीगढ़ में कुछ मंत्रियों समेत अन्य नेताओं से मुलाकात की। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू और पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल सिंह से मुलाकात की। ये नेता मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के करीबी माने जाते हैं।

    सिद्धू ने मंत्रिमंडल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और विधायक बरिंदरमीत सिंह पहरा, अमरिंदर सिंह राजा वारिंग, कुलबीर सिंह जीरा और दविंदर सिंह घुबाया से भी मुलाकात की है।