गढ़वा में डायन भगाने के नाम पर तीन महिलाओं की निर्वस्त्र कर की पिटाई

गढ़वा (झारखंड). गढ़वा जिले के गढ़वा सदर थाना से महज तीन किलोमीटर दूर नारायणपुर गांव में बृहस्पतिवार की रात ग्रामीणों ने एकत्रित होकर ‘डायन-बिसाही’ के नाम पर गांव की ही तीन महिलाओं एवं एक युवक को निर्वस्त्र कर जमकर पीटा और उन्हें गांव में घुमाया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें ग्रामीणों से मुक्त कराया।

गढ़वा सदर के अनुमंडल पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) ब्राह्मण टुटी ने आज शाम ‘भाषा’ को बताया कि बृहस्पतिवार की रात दस बजे गढ़वा सदर थानांतर्गत नारायणपुर गांव में यह घटना घटी जिसमें तीन महिलाओं और एक युवक को ग्रामीणों ने सार्वजनिक तौर पर निर्वस्त्र कर पीटा। उन्होंने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई की और रात्रि में ही गांव पहुंच कर रवि कुमार एवं वासुदेव नामक दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

उन्होंने बताया कि ‘डायन बिसाही’ (डायन भगाने के नाम पर मारपीट) घटना की सूचना मिलने पर वहां जैसे ही पुलिस पहुंची घटनास्थल पर मौजूद लगभग 50 लोग फरार हो गए जबकि 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर सदर थाने लाया गया। उसने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है और इसमें दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि गांव में बली रजवार की दो पुत्रियों की तबीयत खराब थी जिसे लेकर गांव की तीनों महिलाओं पर तंत्र-मंत्र करने का आरोप लगाया गया। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार समाज के बीच बली रजवार के ही परिवार के सदस्यों व गाँव के ही विकास कुमार साव, बब्लू राम, राजद पासवान, रवि कुमार राम, राजू राम आदि ने अन्य लगभग पचास लोगों के साथ मिलकर तीनों महिलाओं को पहले निर्वस्त्र किया और फिर उनके साथ मारपीट की गयी और उन्हें गांव में घुमाया गया।

सदर थाने के थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक राजीव कुमार ने बताया कि ‘डायन बिसाही’ को लेकर यह घटना घटी है। दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जायेगा। (एजेंसी)