चेसेबल मास्टर्स शतरंज टूर्नामेंट : हरिकृष्णा ऑनलाइन टूर्नामेंट से बाहर

चेन्नई. भारतीय ग्रैंडमास्टर पी हरिकृष्णा मंगलवार को दसवें और अंतिम दौर में रूस के अलेक्सांद्र ग्रिसचुक से हारने के बाद 150,000 डालर इनामी चेसेबल मास्टर्स शतरंज टूर्नामेंट में क्वार्टर फाइनल चरण की दौड़ से बाहर हो गये। हरिकृष्णा ने छठे दौर में व्लादिस्लाव आर्तमीव के खिलाफ हार से शुरुआत की लेकिन उन्होंने सातवें दौर में विश्व चैंपियन मैगनस कार्लसन को ड्रा पर रोककर अच्छी वापसी की। इसके बाद उन्होंने दानिल दुबोव के साथ भी अंक बांटे जिससे उनकी ग्रुप ए में आगे बढ़ने की संभावना भी समाप्त हो गयी। भारत का नंबर तीन खिलाड़ी हरिकृष्णा मैगनस कार्लसन शतरंज टूर में पहली बार खेल रहा था। हरिकृष्णा ने सोमवार की शाम को नौवें दौर में हिकारू नकामुरा के साथ ड्रा खेला। अमेरिकी खिलाड़ी इस टूर्नामेंट में अपनी अच्छी फार्म में नहीं दिखा लेकिन उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों से वापसी करके बाजी ड्रा करायी। हरिकृष्णा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘मैंने नकामुरा के खिलाफ नौवें दौर में जीत का बहुत अच्छा मौका गंवाया। अगर मैं वह बाजी जीत जाता तो मेरे पास क्वालीफाई करने का मौका रहता।

पहले दिन तीन बाजियां गंवाना भी मुझे भारी पड़ी। ” इस टूर्नामेंट में खिलाड़ियों ने एक दूसरे के खिलाफ दो – दो बाजियां खेली। हरिकृष्णा दूसरे दौर में कार्लसन से हार गये थे लेकिन सातवें दौर में उन्होंने विश्व में नंबर एक खिलाड़ी से ड्रा खेला। भारतीय खिलाड़ी ने इसे दिलचस्प बाजी करार दिया। उन्होंने कहा, ‘‘आखिर में बाजी दिलचस्प बन गयी थी। यह काफी जटिल भी थी। हम दोनों को हार से बचने के लिये बेहद सतर्कता से चाल चलनी पड़ रही थी और आखिर में बाजी ड्रा हो गयी। ” हरिकृष्णा ने कहा कि इस प्रतियोगिता में खेलना दिलचस्प अनुभव रहा। उन्होंने कहा, ‘‘यह पहला अवसर नहीं था जबकि मैं शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ खेला लेकिन ऑनलाइन पहली बार मैंने शीर्ष खिलाड़ियों का सामना किया। यह दिलचस्प अनुभव रहा। मेरे प्रतिद्वंद्वियों ने महत्वपूर्ण मौकों पर अच्छा खेल दिखाया। ” हरिकृष्णा ने टूर्नामेंट में कुल 3.5 अंक बनाये और वह छह खिलाड़ियों के टूर्नामेंट में छठे और आखिरी स्थान पर रहे। कार्लसन, आर्तमीव, नकामुरा और ग्रिसचुक क्वार्टर फाइनल चरण में पहुंचने में सफल रहे।(एजेंसी)