iran-chess-player-sara-khadem-threats-for-competing-without-hijab-says-dont-return-home

    Loading

    नई दिल्ली: ईरान (Iran) की शतरंज खिलाड़ी (Chess Player) सारा खादेम (Sara Khadem) को स्वदेश वापस नहीं लौटने की चेतावनी दी गई है। हाल ही में सारा खादेम (Sara Khadem) ने एक इंटरनेशनल शतरंज टूर्नामेंट में बिना हिजाब (Hijab) पहने ही खेल में भाग ले लिया। इसके बाद से उन्हें हिजाब को लेकर ईरान से धमकियां मिल रही हैं। वहीं, अब खबर मिली है कि, सारा स्पेन पहुंच गई हैं। 

    25 साल की सारा (Sara Khadem) ने अल्माटी, कजाकिस्तान में FIDE वर्ल्ड रैपिड और ब्लिट्ज शतरंज चैंपियनशिप में भाग लिया था। इस टूर्नामेंट के दौरान उन्होंने हिजाब नहीं पहना था, जिसके बाद उन्हें धमकियां मिली हैं।

    एक सूत्र ने रायटर को बताया कि, टूर्नामेंट के बाद सारा को ईरान से कई फोन कॉल आए थे, जिसमें उन्हें स्वदेश लौटने के खिलाफ चेतावनी दी गई थी। वहीं, कुछ लोगों ने कहा उन्हें इन सभी धमकियों को अनदेखा करके अपने देश लौटना चाहिए। सूत्र ने यह भी बताया कि ईरान में अधिकारी सारा के रिश्तेदारों और माता-पिता को भी धमका रहे हैं।

    स्पेनिश अखबार एल पेस ने खबर दी थी कि सारा (Sara Khadem) ने ईरानी अधिकारी की धमकी के डर से अपने परिवार (पति और बच्चे) के साथ स्पेन जाने की योजना बनाई थी। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, सारा और उनके पति का स्पेन में एक घर हैं। ईरान से आए फोन कॉल के बाद टूर्नामेंट के आयोजकों ने कज़ाख पुलिस के साथ सारा को सुरक्षा प्रदान करने पर सहमति व्यक्त की है। खादम के होटल के कमरे के बाहर चार बॉडीगार्ड तैनात किए गए हैं।