प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

    नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में प्रदुषण (Delhi Pollution) का तांडव जारी है। दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में पिछले एक महीने से हवा जहरीली बनी हुई है। लगातार दिल्ली में प्रदुषण को लेकर सियासी बयानबाजी भी हो रही है। आलम यह है कि आज एयर क्वालिटी इंडेक्स और अधिक बढ़ गया है। जिससे चिंता अधिक बढ़ गई है। दिल्ली के कुछ इलाकों में एक्यूआई (AQI) 600 के पार पहुंच गया है। 

    ज्ञात हो कि दिल्ली के सभी इलाकों में प्रदुषण की वजह से हालात खराब हो गए हैं। जिससे लोगों को सांस लेने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। सरकार की तरफ से तमाम तरह के कदम उठाए जाने के बावजूद प्रदुषण के स्तर में कमी नहीं दिख रही है।

    गौर हो कि सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के मुताबिक नोएडा में पीएम 10 का एयर क्वालिटी इंडेक्स सुबह 604 दर्ज रिपोर्ट हुआ है। साथ ही गुरुग्राम में पीएम 2.5 का 409 रिपोर्ट किया गया। वैसे राजधानी के ओवरऑल एक्यूआई लेवल की बात की जाए तो पीएम 2.5 लेवल 382 रिपोर्ट हुआ है। 

    उल्लेखनीय है कि राजधानी दिल्ली में दिवाली के आस-पास से ही हवा खराब हुई है। देश की सबसे बड़ी अदालत में सुनवाई भी चल रही है। इस दौरान दिल्ली और केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार भी लगाई है। आज भी कोर्ट में प्रदुषण के मसले पर सुनवाई हुई है। कोर्ट ने सरकार को फटकारते हुए पूछा कि प्रदुषण के बीच स्कूल क्यों खुले है।