सामान्य हो रहा जनजीवन, सप्ताहभर बाद बाजार में रौनक

    अमरावती. शहर में सांप्रदायीक तनाव के चलते लागू कर्फ्यू सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक हटने के बाद जनजीवन सामान्य हो रहा है. लगभग एक सप्ताह के बाद 9 घंटों के लिए ही सही शनिवार को बाजार में रौनक दिखाई दी. जिससे जींदगी पटरी पर लौट रही है. इंटरनेट सेवा भी सुचारू हाने से लंबित कामकाज भी सुचारू हो रहा है. 

    कल से खुलेंगे सरकारी दफ्तर 

    शुक्रवार 12 नवंबर को कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा की गई तोड़फोड़ के बाद शनिवार 13 नवंबर को शहर के कुछ हिस्सों में हिंदू समर्थक संगठनों ने तोड़फोड़ की. तोड़फोड़ जल्द ही दंगों में बदल गई. बिगडती परिस्थिति को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने स्थिति को काबू में करने के लिए शहर में धारा 144 के तहत कर्फ्यू लगा दिया.

    कर्फ्यू के दौरान बैंक और सरकारी कार्यालय भी बंद रहे. हालांकि गुरुवार को सरकारी कार्यालय खोलने का आदेश दिया गया, लेकिन इंटरनेट सुविधा के कारण स्थिति में सुधार नहीं हुआ. शुक्रवार को गुरु नानक जयंती के बाद शनिवार और रविवार अवकाश के दिन होने से सरकारी दफ्तर सोमवार 22 नवंबर को ही खुलेंगे. 

    बैंक सेवा सुचारू

    कर्फ्यू के दौरान बुधवार 17 नवंबर से ही बैंक शुरू करने के आदेश दिए. लेकिन इंटरनेट सुविधा खंडित होने से कई दिक्कतें आ रही थी. लेकिन शुक्रवार 19 नवंबर से इंटरसेट सेवा बहाल होने के बाद बैंक का कामकाज भी सुचारू हुआ. इस दौरान बैंकों में भी काफी भीड रही. कर्फ्यू के कारण लटका आर्थिक कामकाज निपटने से नागरिकों ने राहत की सास ली.

    व्यापारी प्रतिष्ठानों पर भीड

    कर्फ्यू में जीवनावश्यक सेवा व वस्तूओं की दूकानों को ही छूट मिली थी. लेकिन अन्य व्यापारी प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति नहीं थी. ऐसे में शादी ब्याह के सीजन में आम नागरिकों को काफी परेशानियों का सामना करना. लेकिन अब दिन का कर्फ्यू हटने के बाद शनिवार को कपडा, जुते-चप्पल, स्टेशनरी, कास्मेटीक, इलेक्ट्रीकल, डेकोरेशत समेत अन्य व्यापारी प्रतिष्ठानों पर भीड देखी गई.

    अब तक 54 एफआइआर, 303 अरेस्ट 

    दो दिन में हुई हिंसा में दोनों गुटों पर 54 एफआइआर दर्ज किए गए है, जिसमें अब तक 303 आरोपियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. इसमें नागपुरी गेट पुलिस ने पूर्व पार्षद हमीद शद्दा, हाजी रफीक, सलाउद्दीन व जावेद ईशाअती को हिरासत में लेकर 1 दिन कस्टड़ी में लिया.  इसी तरह सिटी कोतवाली पुलिस ने कुणाल सोनी व करन धोटे को हिरासत में लेकर 2 दिन की पीसीआर में लिया है.  शहर में भले ही दिन के समय कर्फ्यू में 9 घंटे छुट दी है, लेकिन सिटी में कड़ा पहरा लगाया गया है. 86 फिक्स पाइंट पर एसआरपीएफ व पुलिस तैनात है. जिसमें 2 हजार 727 कर्मियों के बंदोबस्त में तैनात किया है.