Aurangabad Municipal Corporation

    औरंगाबाद. देश भर में क्यूआर कोड (QR Code) कोविड-19 टेस्ट (Covid-19 Test) की रिपोर्ट (Report) देने में औरंगाबाद महानगरपालिका ने देश में प्रथम स्थान पाया है। औरंगाबाद महानगरपालिक (Aurangabad Municipal Corporation) और स्मार्ट सिटी औरंगाबाद (Smart City Aurangabad) के सहकार्य से यह काम शुरु कर कोविड-19 के आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए क्यूआर कोड वाले रिपोर्ट दी जा रही है। देश में प्रथम  स्थान पाने पर महानगरपालिका कमिश्नर (Municipal Commissioner) आस्तिक कुमार पांडेय (Aastik Kumar Pandey) ने खुशी जाहिर करते हुए इसका श्रेय एमएचएमएच एप को दिया है।

    औरंगाबाद महानगरपालिका कमिश्नर और प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय के मार्गदर्शन में 15 अगस्त से इस प्रकार की रिपोर्ट देने का काम महानगरपालिका प्रशासन ने शुरु किया है। आज तक पिछले एक साल में महानगरपालिका प्रशासन द्वारा शहर भर की गई आरटीपीसीआर टेस्ट के करीब 5 लाख से अधिक लोगों की क्यूआर कोड वाली रिपोर्ट औरंगाबाद स्मार्ट सिटी के मेरी हेल्थ मेरे हाथ में इस एप पर उपलब्ध है। क्यूआर कोड होने के कारण रिपोर्ट सच होना निश्चित है। विशेषकर, झूठी रिपोर्ट देकर फंसाने और रिपोर्ट में गड़बड़ियां करने वालों पर लगाम लगता है। 

    कैसे  पाए आरटीपीसीआर टेस्ट की क्यूआर रिपोर्ट 

    टेस्ट करने के बाद पंजीकृत किए मोबाईल क्रमांक पर एक एसएमएस आता है। उसमें टेस्ट किए व्यक्ति का एसआरएफआईआईडी दर्ज रहेगा। उसके बाद 12 घंटे के बाद एसएमएस द्वारा एक लिंक आएगी। उस लिंक पर अपना एसआरएफआईआईडी और मोबाईल नंबर डाले। उसके बाद आरटीपीसीआर टेस्ट पॉजिटिव है, या निगेटिव है, इसकी जानकारी मिलेगी। इसी रिपोर्ट में टेस्ट किए व्यक्ति की रिपोर्ट में क्यूआर कोड भी रहेगा। 

    क्यूआर कोड वाला रिपोर्ट उपलब्ध होगा

    औरंगाबाद महानगरपालिका और स्मार्ट सिटी औरंगाबाद ने मेरी हेल्थ मेरी जिम्मेदारी यानी एमएचएमएच एप तैयार किया है। यह एप डाउनलोड कर डाउनलोड टेस्ट रिपोर्ट पर क्लिक करें। पंजीकृत किया मोबाईल क्रमांक और एसआरएफआईआईडी उसमें डाले। उसके बाद आरटीपीसीआर टेस्ट किए व्यक्ति का क्यूआर कोड वाला रिपोर्ट उपलब्ध होगा।

    झूठी रिपोर्ट देने पर लगा ब्रेक, प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय का दावा 

    औरंगाबाद महानगरपालिका प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय ने क्यूआर कोड कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट देने में औरंगाबाद महानगरपालिका के प्रथम स्थान पाने पर खुशी जाहिर करते हुए बताया कि देश के अंतर्गत और अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा करने के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य की गई है। साथ ही इस टेस्ट की रिपोर्ट क्यूआर कोड के रुप में होना बंधनकारक है। कोविड-19 टेस्ट निगेटिव होने पर ही फ्लाइट में यात्रा करने को इजाजत दी जा रही है। साथ ही रेल यात्रा, बस में यात्रा और राज्य में यात्रा के लिए भी क्यूआर कोड की रिपोर्ट उपयुक्त साबित होती है। इसी के तहत औरंगाबाद महानगरपालिका और स्मार्ट सिटी औरंगाबाद ने पहल कर इसके लिए काम करते हुए देश में प्रथम स्थान पाया। इस उपक्रम के लिए तैयार किए गए एमएचएमएच एप कारगर साबित होने का दावा महानगरपालिका कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने किया है।